आज के गुडलक में जानें कैसे शनिदेव प्रसन्न होकर मिटाएंगे हर कष्ट

Saturday, August 5, 2017 6:39 AM
आज के गुडलक में जानें कैसे शनिदेव प्रसन्न होकर मिटाएंगे हर कष्ट

शनिवार दिनांक 05.08.17 को श्रावण शनिवार मनाया जाएगा। मतानुसार श्रावण माह में सोमवार और शनिवार की बहुत अधिक अहमियत मानी जाती है। श्रावण माह में शिव और शनिदेव के पूजन का बड़ा महत्व होता है। शिव-शंकर को गुरु और शनिदेव को शिष्य माना जाता है। शनि को सभी नवग्रहों में न्यायाधीश का विशेष पद प्राप्त है। शनिदेव ही व्यक्ति के सभी अच्छे-बुरे कर्मों का फल प्रदान करते हैं। साढ़ेसाती व ढैय्या के काल में शनि राशि विशेष के लोगों को उनके कर्मों का फल देते हैं। अगर श्रावण शनिवार को पूरे मन से शनिदेव का विधिवत पूजन किया जाए तो इससे शनिदेव प्रसन्न होकर जीवन के सारे कष्ट हर लेते हैं तथा आशीर्वाद स्वरूप व्यक्ति को सुख समृद्धि और वैभव प्रदान करते हैं।


विशेष पूजन: शनि मंदिर में तेल का दीपक करें, लोहबान धूप करें, काजल चढ़ाएं, बरगद का पत्ता चढ़ाएं, इमरती का भोग लगाएं। इस विशिष्ट मंत्र को 108 बार जपें। पूजन उपरांत इमरती काली गाय को खिलाएं। 


विशिष्ट उपाय: किसी पात्र में सरसों का तेल लेकर अपनी छाया देखें तथा अपनी छाया देखते हुए अपनी सारी व्यथा शनिदेव से कह दें तथा इस छाया पात्र को शनि मंदिर में दान करें।


विशेष मंत्र: ॐ छायादेवीसुताय नमः॥


विशेष मुहूर्त: शाम 6 से शाम 7 तक।


अभिजीत मुहूर्त: दिन 12:00 से 12:53 तक।


अमृत काल: शाम 18:17 से रात 20:03 तक।


यात्रा महूर्त: दिशाशूल - पूर्व, नक्षत्र शूल - नहीं, राहुकाल वास - पूर्व। अतः आज पूर्व दिशा की यात्रा टालें।

 

आज का गुडलक ज्ञान
गुडलक कलर
: काला।


गुडलक दिशा: पश्चिम।


गुडलक टाइम: रात 20:51 से रात 21:06 तक।


गुडलक मंत्र: ॐ शनैश्चराय नमः॥


गुडलक टिप: दुर्भाग्य से मुक्ति हेतु 1 मुट्ठी उड़द सिर से वार कर किसी काली गाय को खिलाएं।


गुडलक फॉर एनिवर्सरी: दंपति किसी काली गाय को पालक खिलाएं इससे परिवारिक कष्ट दूर होते हैं।


गुडलक फॉर बर्थडे: शनिदेव पर बादाम चढ़ाने से व्यवसाय में सफलता मिलेगी।


आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!