बच्चों की कोविड वैक्सीन पर जल्द आ सकती हैं गाइडलाइंस, निजी अस्पताल स्कूलों से कर रहे हैं छात्रों के वैक्सीनेशन की बात

11/12/2021 10:41:25 AM

नई दिल्ली: सरकार द्वारा अगले सप्ताह बच्चों के टीकाकरण के लिए दिशा-निर्देश लेकर आ सकती है। हालांकि एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक देश के प्रमुख निजी अस्पतालों ने वैक्सीन उपलब्ध होने पर बच्चों का कोविड-19 टीकाकरण प्रदान करने के लिए विभिन्न स्कूलों के साथ बातचीत शुरू कर दी है। मैक्स हेल्थकेयर ने कहा कि वह सरकार के टीकाकरण अभियान का समर्थन करने के लिए विभिन्न प्रमुख स्कूलों के साथ टाइअप की तलाश कर रही है। रिपोर्ट में फोर्टिस हेल्थकेयर के हवाले से कहा गया है कि यदि 2-18 साल के बीच के बच्चों के लिए स्वीकृत वैक्सीन शुरू की जाती है तो ऐसे में अस्पताल स्कूलों, कॉलेजों और हाउसिंग सोसायटियों के साथ टाइअप करने की योजना बना रहा है ताकि अधिक से अधिक बच्चों को टीका लगाया जा सके।

टीकाकरण के स्कूलों के बुनियादी ढांचे का इस्तेमाल
अब तक सरकार ने जायडस कैडिला के टीके जायकोव डी को 12 साल से कम उम्र के बच्चों में इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है। भारत बायोटेक के कोवैक्सिन को भी जल्द ही ड्रग रेगुलेटर की मंजूरी मिलने की उम्मीद है, क्योंकि इसकी विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने हाल ही में दो साल से कम उम्र के बच्चों में इसके इस्तेमाल की सिफारिश की थी। अस्पताल परिसर में टीकाकरण कराने की संभावना पर अस्पताल विचार कर रहे हैं। वे स्कूलों से बुनियादी ढांचा मुहैया कराने और अभिभावकों से सहमति लेने को कह रहे हैं। एक अन्य मीडिया रिपोर्ट में निजी अस्पताल के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से कहा कि हम स्कूलों के साथ बातचीत कर रहे हैं। कई लोगों ने कहा है कि एक बार जब सरकार फैसला कर लेगी, तो हम अपने स्टैंड को मजबूत करेंगे। टीकाकरण के लिए स्कूल के बुनियादी ढांचे का इस्तेमाल किया जा सकता है।

सुरक्षा प्रोटोकॉल के बारे में भी बातचीत
कई स्कूल फिर से खुलते ही अस्पतालों से संपर्क कर चुके हैं। रिपोर्ट में दिल्ली में इंद्रप्रस्थ अपोलो के एक अधिकारी के हवाले से कहा कि स्कूल न केवल टीकाकरण के बारे में, बल्कि सुरक्षा प्रोटोकॉल के बारे में भी बातचीत शुरू कर रहे हैं, जिसका उन्हें फिर से पालन करना चाहिए। मैक्स स्मार्ट सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल साकेत में बाल रोग और संक्रामक रोगों के मुख्य सलाहकार अरविंद तनेजा ने भी कहा कि अस्पताल को विशेष रूप से सत्र फिर से शुरू होने से पहले माता-पिता और स्कूलों से बच्चों के टीकाकरण के बारे में प्रश्न प्राप्त हो रहे हैं। तनेजा ने कहा कि कोविड के टीके बच्चों के लिए बहुत विश्वसनीय और प्रभावी हैं। चूंकि स्कूल फिर से खुल रहे हैं, इसलिए 5 साल से ऊपर के सभी बच्चों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण किया जाना चाहिए। वे संक्रमित हो सकते हैं या वायरस के स्पर्शोन्मुख वाहक हो सकते हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News