यूक्रेनी विमान की कॉकपिट के नीचे टकराई थी ईरानी मिसाइल, इस वजह से संदेश नहीं भेज पाया पायलट

1/13/2020 8:57:38 AM

तेहरान: यूक्रेन के 45 विमान विशेषज्ञों के दल को पिछले बुधवार को तेहरान में क्रैश हुए बोइंग 737-800 विमान के मलबे की जांच में हमले के कई ठोस साक्ष्य मिले हैं। यूक्रेन के प्रमुख सुरक्षा अधिकारी ओलेक्सी डेनिलोव का कहना है कि ईरानी मिसाइल विमान के कॉकपिट के ठीक नीचे टकराई थी। सक्ष्य इतने मजबूत हैं कि ईरान हमले से इन्कार नहीं कर सकता। डेनिलोव के अनुसार हमला ठीक कॉकपिट के नीचे हुआ था। हमले में पायलट तत्काल मारे गए और उन्हें कोई संदेश देने या कुछ समझने का मौका ही नहीं मिला। मलबे में मिला कॉकपिट का हिस्सा हमले की सारी कहानी कह रहा है। इस पर कई सुराख नजर आ रहे हैं, जो मिसाइल हमले से ही हो सकते हैं। यूक्रेनी विशेषज्ञों का दल शुक्रवार को तेहरान पहुंच गया था। ईरान पहले हमले से इन्कार कर रहा था मगर शनिवार को उसने स्वीकार किया कि उससे अनजाने में गलती हुई है। इस हमले में विमान में सवार सभी 176 लोग मारे गए थे।

PunjabKesari

विस्फोटक और मिसाइल के टुकड़े भी मिले
मिसाइल में जिस विस्फोटक का इस्तेमाल हुआ, उसे भी विशेषज्ञों ने मलबे में ढूंढ निकाला। विस्फोटक के टुकड़े पूरी कहानी बयां करते हैं। इसके अलावा मिसाइल के टुकड़े भी आसपास ही पाए गए। इन ठोस सबूतों की वजह से ही ईरान हमले की बात से इंकार नहीं कर पाया।

PunjabKesari

इन सबूतों के आगे ईरान ने घुटने टेके और गलती मानी
बुल्डोजर का इस्तेमाल

  • यूक्रेन के प्रमुख सुरक्षा अधिकारी डेनिलोव के अनुसार ईरान राजनयिक तौर पर एक सहयोगी नहीं बल्कि एक कठिन देश है। वहां जांच में कई तरह की बाधाओं की हमें उम्मीद थी। जहां मलबा इकट्ठा है, वहां बुल्डोजर चलने के निशान हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या यह साक्ष्य मिटाने के लिए इस्तेमाल में लाए गए। डेनिलोव ने कहा ऐसा हो सकता है। पहले उन्होंने इस हादसे को तकनीकी खराबी बताया था। हमें जांच में सहयोग की उम्मीद भी काफी कम थी।
  • 45 विमान विशेषज्ञ शुक्रवार को ही यूक्रेन से तेहरान पहुंच गए थे
  • 13 किलोमीटर तक यूक्रेनी विमान का मलबा फैल गया था मिसाइल टकराने के बाद
    PunjabKesari

Seema Sharma

Related News