आस्ट्रेलिया आग से राहत की आशा, दुनिया भर से 33 हजार लोग मदद के लिए पहुंचे (Video)

1/14/2020 3:08:47 PM

सिडनीः ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में पिछले 4 माह से लगी भीषण आगने खूब तबाही मचाई। यहां जंगलों में 136 जगह लगी भीषण आग से 1.4 करोड़ हेक्टेयर इलाका खाक हो चुका है। 100 करोड़ से ज्यादा वन्य प्राणी जान गंवा चुके हैं। दो हजार से अधिक घर जल गए। 26 लोगों की मौत हुई है। जितनी बड़ी यह त्रासदी है, लोगों ने मदद की उतनी बड़ी मिसाल पेश की है। हर व्यक्ति वन्य जीवन बचाने में जुटा है। अब तक दुनियाभर के लोग एक हजार करोड़ रुपए दान कर चुके हैं। लोग राशन, पानी, कपड़े, जूते, दवाओं जैसी रोजमर्रा की उपयाेगी चीजें भी भेज रहे हैं। ऐसे सामानों से फायर स्टेशन, कम्युनिटी हॉल, फुटबॉल ग्राउंड और क्लब भर गए हैं।

फेसबुक पर जुटाई सर्वाधिक चैरिटी
दुनियाभर से 33 हजार वॉलंटियर मदद के लिए पहुंचे हैं। नॉर्थ विक्टोरिया की महिला फायर फाइटर्स की 100 से ज्यादा महिलाओं का समूह रात-दिन आग बुझाने का काम कर रहा है। दुनिया में क्रोकोडाइल मैन के नाम से विख्यात स्टीव इरविन का परिवार जुटा है। स्टीव की पत्नी टेरी, 21 साल की बेटी बिंडी और 16 साल का बेटा रॉबर्ट वन्यजीवों की सेवा में लगे हैं। ऑस्ट्रेलियाई कॉमेडियन सेलेस्ट बार्बर ने 50 मिलियन डॉलर (355 करोड़ रुपए) जुटाए हैं। फेसबुक के प्लेटफॉर्म पर चैरिटी के लिए जुटाई गई यह सर्वाधिक रकम है।

PunjabKesari

बारिश होने की संभावना
आग को नियंत्रित करने में जुटे दमकल कर्मियों ने बताया कि सोमवार को उस पर काफी हद तक काबू पाया गया। यहां बारिश होने की संभावना है, जिससे उम्मीद की जा सकती है कि जंगल की आग से बरबाद हुए ग्रामीण इलाकों को कुछ राहत जरूर मिलेगी। दमकलकर्मियों का कहना है कि न्यू साउथ वेल्स और विक्टोरिया प्रांत के जंगलों में लगी आग पर बहुत हद तक काबू पाया जा चुका है। यहां पिछले करीब चार महीने से आग लगी है। न्यू साउथ वेल्स ग्रामीण दमकल सेवा के आयुक्त शेन फिट्जसिमोंस ने सोमवार को इस क्षेत्र का दौरा भी किया। उन्होंने कहा कि कुछ हिस्से अब भी जल रहे हैं लेकिन आग बुझाने के प्रयास अब सफल होते दिख रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस आग ने ग्रेटर लंदन के भी तीन गुना बड़े करीब आठ लाख हेक्टेयर इलाके को जलाया है। इस आग में जंगल के कई जानवर और विलुप्त प्राणी जलकर भस्म हो गए हैं।

PunjabKesari

जानवरों के लिए सब्जी गिराईं
जंगल में फंसे भूखे जानवरों के लिए हेलिकॉप्टर के जरिए फल और सब्जियां गिराए जा रहे हैं। जंगल की आग में सबसे अधिक नुकसान जानवरों और विभिन्न पक्षियों की प्रजाति को हुआ है। पर्यावरण और ऊर्जा मंत्री ने कहा कि आग पर काबू पाने के साथ ही हमारी प्राथमिकता है कि हम अधिक से अधिक संख्या में जानवरों, पक्षियों और वन्य प्रजातियों को भी बचा सकें।

 

सूचीबद्ध होगी विलुप्त प्रजाति की आबादी
ऑस्ट्रेलिया में ऊंचे पेड़ों पर रहने वाले खूबसूरत जीव कोआला को विलुप्त होने वाली प्रजाति घोषित किया जा सकता है। इसका एलान सोमवार को स्वयं देश के पर्यावरण मंत्री ने किया। दरअसल, ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग से बड़ी संख्या में कोआला मारे गए और उनके रहने के 30 फीसद स्थान पूरी तरह नष्ट हो गए हैं। वहीं सरकार ने बुशफायर में मारे गए लोगों के लिए 70 करोड़ डॉलर की सहायता देने की बात कही है।

PunjabKesari


Tanuja

Related News