चीन का जैक मा पर एक और एक्शन, अब दिग्गजों की लिस्ट से भी किया बाहर

2021-02-03T13:10:51.283

बिजनेस डेस्कः चीन एक तानाशाह देश है। चीन न केवल दुनिया में अपनी दादागीरी दिखाने में जुटा है बल्कि वह देश में भी अपने खिलाफ उठने वाली हर आवाज को दबाने की कोशिश कर रहा है। इसी क्रम में चीन के दिग्गज उद्योगपति और अलीबाबा समूह के संस्थापक जैक मा पर ड्रैगन की निगाहें टेढ़ी ही हैं। अब चीन ने मा को उद्यमी नेता की सूची से उनका नाम हटा दिया है। इस कदम से यह पता चलता है कि राष्ट्रपति शी जिनफिंग प्रशासन से उनके रिश्ते किस हद तक खराब हो चुके हैं।

PunjabKesari

दुनिया और चीन के दिग्गज उद्योगपति जैक मा का नाम सरकारी मीडिया शंघाई सिक्यूरिटीज न्यूज के पहले पेज पर भी जगह नहीं मिली है। सरकारी मीडिया में उनका नाम उद्यमी नेता से भी हटा दिया गया है। वहीं, सरकारी मीडिया में मा के अलावा हुआवेई टेक्नोलॉजी के रेन झेंगफेई, शाओमी के लेई जून और बीवाईडी के वांग चाउंफू का उनके योगदान के लिए काफी तारीफ की गई है।

PunjabKesari

यह रिपोर्ट तब प्रकाशित हुई थी जब अलीबाबा समूह की तिमाही आय का आंकड़ा आने वाला है। अलीबाबा समूह ने अभी ताजा घटनाक्रम पर कोई जानकारी नहीं दी है। बता दें कि चीनी अधिकारी जैक मा के खिलाफ एंटी ट्रस्ट जांच में जुटी हुई है और उनके समूह के 37 अरब डॉलर के आईपीओ को रोक दिया था।

PunjabKesari

चीनी सरकार के निशाने पर जैक मा
दुनियाभर में करोड़ों लोगों के आदर्श रहे जैक मा ने सरकार से आह्वान किया था कि ऐसे सिस्‍टम में बदलाव किया जाए जो 'बिजनेस में नई चीजें शुरू करने के प्रयास को दबाने' का प्रयास करे। इसके बाद से चीनी सरकार उनके खिलाफ एक्टिव हो गई है। मा के खिलाफ कई तरह की जांच चल रही है। उन्‍होंने वैश्विक बैंकिंग नियमों को 'बुजुर्गों लोगों का क्‍लब' करार दिया था। इस भाषण के बाद चीन की सत्‍तारूढ़ कम्‍युनिस्‍ट पार्टी भड़क गई थी। इसके बाद मा के बिजनेस के खिलाफ असाधारण प्रतिबंध लगाया जाना शुरू कर दिया गया।
 


Content Writer

jyoti choudhary

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static