See More

कोरोना मरीजों की मदद के लिए आगे आए पहले उद्योगपति आनंद महिंद्रा, देंगे अपनी पूरी सैलरी

2020-03-22T16:15:23.513

बिजनेस डेस्कः पूरी दुनिया में अपने पैर पसार चुका कोरोना वायरस के मामले में अब भारत में भी चिंताजनक स्तर से बढ़ रहा है। देश में कोरोना मरीजों की संख्या 340 से ज्यादा हो गई है। केंद्र सरकार और राज्य सरकारें, मेडिकल काउंसिल समेत सभी लोग इसे रोकने का पूरा प्रयास कर रहे हैं। आज जनता कर्फ्यू का दिन है, लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ऐसे पहले उद्योगपति के रूप में सामने आए हैं, जिन्होंने मदद की पेशकश की है। महिंद्रा ने मरीजों के लिए अपने रेजॉर्ट्स देने के साथ-साथ अपनी पूरी सैलरी देकर मॉनिटरी मदद की बातें कहीं।

PunjabKesari

चरमरा सकती है मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर
आनंद महिंद्रा ने रविवार को ट्वीट के ​जरिए भारत में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कुछ खास पहल के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जानकारों के मुताबिक, बहुत हद तक यह संभव है कि भारत कोरोना वायरस के तीसरे स्टेज में पहुंच चुका है। अगर ऐसा है तो इससे लाखों लोगों के लिए खतरा बढ़ गया है। इससे हमारे मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर चरमरा सकती है। महिंद्रा ने आगे कहा कि अगले कुछ हफ्तों में लॉकडाउन करने से बढ़त मामलों में कमी आएगी और मेडिकल सुविधाओं पर भी बोझ कम होगा। हालांकि, हमारे लिए जरूरी है कि हम कुछ टेम्पोररी हॉस्पिटल्स खोलें और वेंटिलेटर्स की व्यवस्था करें।

PunjabKesari

वेंटिलेटर्स बनाएंगी महिंद्रा ग्रुप
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि इस खतरे से निपटने के लिए महिंद्रा ग्रुप में हम अभी से ही इस बात पर काम करना शुरू कर चुके हैं कि वेंटिलेटर्स बनाया जा सके। महिंद्रा हॉलिडेज में, टेम्पोरेरी सुविधाओं के लिए हम अपने रिसॉर्ट आफर कर रहे हैं। इन रिसॉर्ट्स में सुविधाओं के लिए हमारी प्रोजेक्ट टीम सरकार और सेना की मदद करने के लिए तैयार है।

PunjabKesari

महिंद्रा फाउंडेशन जुटाएगी फंड
उन्होंने यह भी ऐलान किया कि कोरोना वायरस की वजह से छोटे कारोबारियों और स्वःरोजगार वाले लोगों को हुए नुकसान की हम भरपाई करेंगे। इसके लिए हम ​महिंद्रा फाउंडेशन के जरिए फंड जुटा रहे हैं। हम एसोसिएट्स से उम्मीद करते हैं ​कि वो भी इस फंड में अपना योगदान देंगे।

अपनी पूरी सैलरी देंगे आनंद महिंद्रा
आनंद महिंद्रा ने यह भी ऐलान किया कि वो अपनी 100 फीसदी सैलरी इस फंड के लिए देंगे। इसके अलावा, अगले कुछ महीनों में और भी रकम इसमें डालेंगे। बता दें कि संक्रमित होने के साथ-साथ इससे मरने वाले लोगों की संख्या भी अब बढ़ रही है। वर्तमान में, भारत के लिए सबसे बड़ी चिंता यह है कि वो अधिक से अधिक एहतियात बरतें।
 


jyoti choudhary

Related News