मौलवी मोहम्मद फारूक और अब्दुल गनी लोन की बरसी पर श्रीनगर के कई हिस्सों में रहा बंद

punjabkesari.in Saturday, May 21, 2022 - 04:17 PM (IST)

  
श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर के कई हिस्सों में शनिवार को मौलवी मोहम्मद फारूक और अब्दुल गनी लोन की बरसी पर बंद रहा।

 

बंद का आह्वान हुर्रियत कांफ्रेंस के उदार धड़े ने किया था जिसकी अध्यक्षत मीरवाइज उमर फारूक करते हैं।

 

अधिकारियों ने बताया कि नौहट्टा, गोजवारा और राजौरी कदाल सहित शहर के कई हिस्सों में अधिकतर दुकानें बंद रहीं।

 

उन्होंने हालांकि, स्पष्ट किया कि इन इलाकों के साथ-साथ शहर के बाकी हिस्सों में सार्वजनिक परिवहन जारी है।

 

अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर के अन्य हिस्सों सहित बाकी जिलों में दुकानें और कारोबारी प्रतिष्ठान खुले हुए हैं। उन्होंने बताया कि संवेदनशील इलाकों में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है ताकि कानून व्यवस्था की समस्या से निपटा जा सके।

 

अलगावादी धड़े ने लोगों से अपील की है कि वे बुधवार को ईदगाह आए और उनके लिए नमाज अता करें। उल्लेखनीय है कि ईदगाह में ही दोनों नेताओं को दफनाया गया है।

 

अब्दुल गनी लोन प्रमुख हुर्रियत नेता और पीपुल्स कांफ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन के पिता थे जिनकी हत्या 21 मई 2002 को कश्मीर के पूर्व मीरवाइज मौलवी मोहम्मद फारूक की बरसी पर आयोजित रैली के दौरान कर दी गई थी।

 

मौलवी फारूक, हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारूक के पिता थे जिनकी हत्या 21 मई 1990 को कर दी गई थी।

 

इस बीच, अपने पिता को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए सज्जाद लोन ने कहा कि अब्दुल लोन की हत्या इसलिए की गई क्योंकि वह कहते थे कि जिन्होंने उनकी (फारूक की) हत्या की है वे आतंकवादी हैं और जहन्नुम में सड़ेंगे।

 

माकपा नेता एमवाई तारिगामी ने दोनों दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि दोनों का संवाद में पूरा विश्वास था।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Monika Jamwal

Related News

Recommended News