बारिश का रौद्र रूप:  महाराष्ट्र में 48 घंटों में 136 लोगों ने तोड़ा दम, कई राज्यों के लिए चेतावनी जारी

2021-07-24T09:25:24.56

नेशनल डेस्क:  पश्चिम और दक्षिण भारत के कई हिस्सों में भारी बारिश ने काफी तबाही मचाई है। महाराष्ट्र में पिछले 48 घंटों में बारिश से संबंधित घटनाओं में कुल 136 लोगों की मौत हो गई है। भूस्खलन के अलावा बाढ़ के पानी में बह जाने के कारण भी कई लोगों की मौत हो गयी। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), स्थानीय आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ, पुलिस और जिला प्रशासन की टीमें राहत एवं बचाव अभियान में जुटी हुई हैं।

 

जानिए किस राज्य को कितना हुआ नुकसान 

  • पश्चिम और दक्षिण भारत के कई हिस्सों में भारी बारिश ने काफी तबाही मचाई है
  • महाराष्ट्र में पिछले 48 घंटों में बारिश से संबंधित घटनाओं में कुल 129 लोगों की मौत हो गई
  • भूस्खलन के अलावा बाढ़ के पानी में बह जाने के कारण भी कई लोगों की मौत 
  • बचाव अभियान में जुटा राष्ट्रीय आपदा मोचन बल 
  • भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने छह जिलों के लिए रेड अलर्ट किया जारी 
  • कर्नाटक के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश के कारण तीन लोगों की मौत 
  • आठ स्थानों पर हुआ भूस्खलन और करीब नौ हजार लोगों को निकाला गया सुरक्षित 
  • भारतीय रेलवे  भूस्खलन के कारण कुछ ट्रेनें की रद्द 
  • गोवा में भी भारी बारिश के चलते नदियों उफान पर और 1,000 मकान हुए क्षतिग्रस्त
  • तेलंगाना में बारिश के चलते कई इलाके जलमग्न 

PunjabKesari

छह जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी 
राज्य में लोगों को बारिश से कोई राहत मिलती नहीं नजर आ रही है क्योंकि भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने छह जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है, जो पहले से बारिश से सराबोर हैं। आईएमडी ने ‘‘अत्यधिक भारी’’ बारिश का पूर्वानुमान व्यक्त किया है और एहतियाती उपायों की सिफारिश की है। अगले 24 घंटों के लिये तटीय कोंकण इलाके में रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिलों के साथ ही पश्चिमी महाराष्ट्र के पुणे, सतारा और कोल्हापुर जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है।

PunjabKesari
कर्नाटक में भी बने बाढ़ जैसे हालात 
इसके इलावा, कर्नाटक के विभिन्न हिस्सों में बीते 24 घंटे में भारी बारिश के कारण तीन लोगों की मौत हो गई, आठ स्थानों पर भूस्खलन हुआ और करीब नौ हजार लोगों को सुरक्षित निकाला गया। सरकार ने सात जिलों के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी किया है। बीते कुछ दिन से लगातार हो रही बारिश के कारण बेलगावी, चिकमंगलुरु, धारवाड़, हावेरी, शिवमोगा और उत्तर कन्नड़ में बाढ़ के हालात बने हुए हैं।कृष्णा, कावेरी, तुंगभद्रा, भीमा, कपिला नदियां तथा मालनाड़ एवं तटीय कर्नाटक में कई अन्य नदियां ऊफान पर हैं।

 

गोवा में नदियां उफान पर 
गोवा में भारी बारिश और नदियों का जलस्तर बढ़ने के बाद आई बाढ़ से संबंधित घटना में एक महिला की मौत हो गई और करीब 1,000 मकान क्षतिग्रस्त हो गए। सैंकड़ों लोगों को निचले इलाकों से सुरक्षित बाहर निकाला गया है। यह बाढ़ राज्य में पिछले 40 साल में आई प्रलयकारी बाढ़ में एक है।  उत्तर भारत में, दिल्ली में आज उमस भरा दिन रहा और पंजाब और हरियाणा में दिन का तापमान सामान्य सीमा के करीब रहा, जबकि उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा और गरज के साथ बौछारें पड़ीं।

PunjabKesari
कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावन जारी 
पश्चिमी और दक्षिण भारत के कई हिस्सों में भारी बारिश होने के बीच मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि कोंकण, गोवा और मध्य महाराष्ट्र में कुछ स्थानों पर अगले दो दिनों में अत्यधिक भारी बारिश आने की संभावना है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा, ‘‘पश्चिम तट पर अगले दो-तीन दिनों में कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी बारिश होने के साथ ही कुछ स्थानों पर व्यापक बारिश होने की संभावना है। हालांकि इसके बाद बारिश में कमी आएगी।  कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र के घाट वाले इलाकों में 23-24 जुलाई को कुछ स्थानों पर अत्यधिक भारी वर्षा की संभावना है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Recommended News