फिरोजपुर रैली: PM मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक, गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार से मांगा जवाब

punjabkesari.in Wednesday, Jan 05, 2022 - 03:22 PM (IST)

नेशनल डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बुधवार को पंजाब के फिरोजपुर में रैली थी लेकिन आखिरी वक्त पर कार्यक्रम को रद्द करना पड़ा। पहले कहा जा रहा था कि खराब मौसम के कारण रैली रद्द हुई लेकिन अब इसको लेकर बड़ा खुलासा सामने आया है। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी के कार्यक्रम रद्द होने के पीछे  सुरक्षा कारण थे। केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से इस पर बयान जारी किया गया है और पंजाब की चन्नी सरकार से जवाब भी मांगा गया है।

PunjabKesari

गृह मंत्रालय के अनुसार पीएम का काफिला जब फ्लाईओवर पर पहुंचा तो वहां कुछ प्रदर्शनकारी जमा थे और सड़कें ब्लॉक थीं। ऐसे में पीएम का काफिला 15-20 मिनट तक वहां फंसा रहा। गृह मंत्रालय ने कहा कि सुरक्षा में चूक का ये बड़ा मामला है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी इसको लेकर ट्वीट किया और पंजाब सरकार पर निशाना साधा बताया जा रहा कि पीएम मोदी का काफिला जब बंठिडा से हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था तब पीएम मोदी को करीब 20 मिनट तक हाईवे पर ही इंतजार करना पड़ा।

PunjabKesari

 पंजाब पुलिस के डीजीपी को बताकर आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की रजामंदी ली गई लेकिन पंजाब पुलिस कई घंटों तक रास्ता ही साफ नहीं करा पाई। भाजपा ने आरोप लगाया कि चन्नी को फोन किया गया लेकिन उन्होंने फोन तक नहीं उठाा। भाजपा ने कहा कि पंजाब में पीएम मोदी को सुरक्षा नहीं दी गई, सीएम चन्नी को इस्तीफा देना चाहिए।  

PunjabKesari

गृह मंत्रालय का बयान
गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार पीएम मोदी का विमान बुधवार सुबह बठिंडा पहुंचा था। यहां से उन्हें हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक हेलीकॉप्टर से जाना था। हालांकि बारिश और खराब दृश्यता की वजह से पीएम ने करीब 20 मिनट तक इंतजार किया। मंत्रालय के अनुसार जब मौसम नहीं सुधरा तो सड़क मार्ग से शहीद स्मारक जाने का फैसला हुआ। इसमें पंजाब पुलिस डीजीपी और अन्य सुरक्षा बंदोबस्त की पुष्टि वगैरह लेने के साथ दो घंटे का समय लगना था।

PunjabKesari

पीएम मोदी का काफिला जब शहीद स्मारक से 30 किलोमीटर दूर था लेकिन फ्लाईओवर को किसान प्रदर्शनकारियों ने घेर रखा था। गृह मंत्रालय के मुताबिक प्रधानमंत्री के कार्यक्रम और यात्रा की योजना के बारे में पंजाब सरकार को पहले ही बता दिया गया था। मंत्रालय ने कहा कि प्रक्रिया के अनुसार राज्य सरकार तो सुरक्षा के साथ-साथ आकस्मिक योजना तैयार रखने के लिए आवश्यक व्यवस्था करनी चाहिए थी। मंत्रालय ने कहा कि ऐसे काफिले का फंसना बड़ी सुरक्षा चूक है।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News