Fact check: मांस, मुर्गी-मछली और अंडा खाने से नहीं होता #COVID19

2020-03-18T16:01:43.247

नेशनल डेस्कः कोरोना वायरस से जहां दुनियाभर में दहशत का माहौल है वहीं इसको लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह की अफवाहें भी फैलाई जा रही हैं। खासकर जानवरों को लेकर भी अफवाहें फैल रही है कि इनसे भी वायरस होने का खतरा है तो यहां बता दें कि प्रेस सूचना ब्यूरो (Press Information Bureau) PIB ने ऐसी अफवाहों का Fact check करना शुरू किया है और लोगों को बताया जा रहा है कि क्या सही है और क्या गलत।

PunjabKesari,coronavirus photo,coronavirus image,coronavirus fake news,कोरोना वायरस फोटो,कोरोना वायरस इमेज,कोरोना वायरस संक्रमण,कोरोना वायरस का कारण

जानवरों से नहीं होता कोरोना वायरस 

सोशल मीडिया पर इन दिनों अफवाहें फैल रही हैं कि  मांस, मुर्गी-मछली और अंडा खाने से कोरोना होने का डर है। अफवाहें है कि जानवरों से भी लोगों में वायरस आ रहा है। जबकि यह गलत है। PIB के फैक्ट चैक के मुताबिक  मांस, मुर्गी-मछली और अंडा खाने से #COVID19 नही होता है। हालांकि यह जरूर कहा गया है कि जो भी नॉन वेज खाता है वो इसे अच्छे से पका कर खाएं। इतना ही नहीं पालतू जानवर भी वायरस नहीं फैलाते हैं। साथ ही मटन खाने (बकरे का मीट) से भी कोरोना वायरस नहीं होता है, यह मात्र अफवाहें हैं, ऐसी फेक न्यूज से बचें और सावधानियां बरतें। 

PunjabKesari,coronavirus photo,coronavirus image,coronavirus fake news,कोरोना वायरस फोटो,कोरोना वायरस इमेज,कोरोना वायरस संक्रमण,कोरोना वायरस का कारण

कोरोना वायरस के फैलने का कारण चिकन एवं अंडे खाना नहीं है 

बता दें कि इससे पहले वैज्ञानिक कह चुके हैं कि पोल्ट्री उद्योग का कोरोना वायरस से कोई संबंध नहीं है और चिकन एवं अंडे न केवल सुरक्षित और पौष्टिक हैं बल्कि इनमें मौजूद ‘हाई क्वालिटी प्रोटीन’ रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना मनुष्य से मनुष्य में फैलता है, इससे पक्षियों का कोई संबंध नहीं है।

PunjabKesari


Seema Sharma

Related News