अनंत हेगड़े का खुलासा- 40 हजार करोड़ बचाने के लिए 80 घंटे के CM बने थे फडणवीस

2019-12-02T12:07:27.637

नेशनल डेस्क: पिछले कुछ दिनों से महाराष्ट्र की उठापटक ने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर खींच रखा है। राज्य महा विकास अघाड़ी (एमवीए) की सरकार के सत्ता में ​काबिज होने के बाद भी राजनीतिक घमासान कम होता दिखाई नहीं दे रहा है। अब अपने विवादित बयान देने के लिए पहचाने जाने वाले भारतीय जनता पार्टी सांसद अनंत हेगड़े ने महाराष्ट्र में भाजपा द्वारा सरकार बनाने को ‘नाटक' बताते हुए इस प्रकरण में एक नया दिलचस्प मोड़ दे दिया है। 

PunjabKesari

हेगड़े ने दावा किया कि उनकी पार्टी के देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री के नियंत्रण वाली 40,000 करोड़ रुपये की केंद्रीय निधि का ‘दुरुपयोग' होने से ‘बचाने'' के लिए बहुमत न होने के बावजूद पिछले महीने महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाया गया। उन्होंने कहा कि आप सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में हाल ही में महज 80 घंटों के लिए हमारा आदमी मुख्यमंत्री था लेकिन जल्द ही फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया। हमने यह नाटक क्यों किया? क्या हम नहीं जानते थे कि हमारे पास बहुमत नहीं है, वह क्यों मुख्यमंत्री बने? यह आम सवाल है जो हर कोई पूछ रहा है।

PunjabKesari

उत्तर कन्नड़ जिले में येल्लापुर में उपचुनाव के लिए प्रचार अभियान के दौरान शनिवार को एक सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री के नियंत्रण में 40,000 करोड़ रुपये से अधिक की धनराशि थी। अगर राकांपा, कांग्रेस और शिवसेना सत्ता में आती तो निश्चित तौर पर 40,000 करोड़ रुपये का इस्तेमाल विकास कार्य के लिए नहीं किया जाता और इसका दुरुपयोग किया जाता।

PunjabKesari

हेगड़े ने कन्नड़ भाषा में कहा कि यह पहले ही तय था। जब हमें पता चला कि तीनों पार्टियां सरकार बना रही हैं तो यह नाटक रचने का फैसला किया गया। इसलिए बंदोबस्त किया गया और फडणवीस को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई जिसके बाद 15 घंटों के भीतर फडणवीस ने पैसे को वही पहुंचा दिया जहां उसे जाना चाहिए था और उसे बचा लिया। उन्होंने कहा कि पूरा पैसा केंद्र सरकार को वापस दे दिया गया वर्ना “अगले मुख्यमंत्री ने...आप जानते हैं कि क्या किया होता। 


vasudha

Related News