संक्रमण के चलते अगले तीन दिन उत्तराखंड में बंद रहेंगे सभी कार्यालय: सीएम

2021-04-22T23:48:19.937

देहरादून: कोरोना वायरस संक्रमण की बेकाबू होती दूसरी लहर के मद्देनजर उत्तराखंड सरकार ने बृहस्पतिवार को सभी कार्यालयों को अगले तीन दिन के लिए बंद रखने का निर्णय लिया है। प्रदेश भर में कोविड-19 के 3998 नए मरीज सामने आए और 19 अन्य की मृत्यु हो गई। मुख्य सचिव ओम प्रकाश के संक्रमित होने की पुष्टि के एक दिन बाद उनके प्रमुख निजी सचिव एमएल उनियाल ने बताया कि मुख्य सचिव ने पिछले दस दिन में उनके संपर्क में आए अधिकारियों और कर्मचारियों से अपनी जांच कराने का अनुरोध किया है।

इस बीच, राज्य लोक सेवा आयोग से स्वास्थ्य विभाग को 345 नए चिकित्साधिकारी मिल गए, जिनकी जल्द ही तैनाती कर दी जाएगी। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कोविड प्रकोप के बीच इन चिकित्सकों के मिलने से राज्य की स्वास्थ्य सेवाएं और सुदृढ़ होंगी। उन्होंने फिर दोहराया कि राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं को लगातार विस्तार प्रदान किया जा रहा है और महामारी से निपटने के लिए राज्य सरकार पूरी तरह तत्पर है।

मुख्यमंत्री ने यहां निजी अस्पतालों के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक भी की और कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सरकारी और निजी सभी उपलब्ध संसाधनों का अनुकूलतम उपयोग जरूरी है। प्रभारी सचिव (स्वास्थ्य) पंकज कुमार पाण्डेय द्वारा यहां जारी एक आदेश में कहा गया है संक्रमण की प्रभावी रोकथाम के लिए आवश्यक सेवाओं से संबंधित कार्यालयों को छोड़कर प्रदेश के सभी कार्यालय 23, 24 और 25 अप्रैल को बंद रखे जाएंगे।

उन्होंने कहा कि इस दौरान सभी कार्यालयों के भीतर तथा आसपास सेनिटाइजेशन किया जाएगा । इसके अलावा, प्रदेश में अग्रिम आदेशों तक सरकारी एवं गैर सरकारी शिक्षण संस्थान जैसे स्कूल, कॉलेज, पॉलीटेक्निक, आइटीआई, कोचिंग संस्थान, विश्वविद्यालय बंद कर दिये गए हैं । अपर मुख्य सचिव राधा रतूडी द्वारा इस संबंध में जारी आदेश में कहा गया है कि इस दौरान आनलाइन माध्यम से अध्ययन कार्य जारी किया जाएगा ।

हालांकि, किसी भी प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले विद्यार्थियों को आवागमन की छूट दी जाएगी लेकिन उन्हें संबंधित परीक्षा का प्रवेश पत्र एवं पहचान पत्र अपने साथ रखना अनिवार्य होगा । नए मामलों के साथ ही प्रदेश में अब तक 138010 मरीजों में महामारी की पुष्टि हो चुकी है जबकि 1972 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है । प्रदेश में उपचाराधीन मामलों की संख्या 26980 है और 106271 मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं ।


Content Writer

Shivam

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static