कोरोना का खौफ: ब्रिटेन ने भारत को 'रेड लिस्ट' में डाला, US ने भी नागरिकों के लिए जारी की Guidelines

2021-04-20T10:22:22.157

नेशनल डेस्क:  देश में  कोरोना वायरस की दूसरी लहर विकराल रूप ले चुकी है। यह लहर इतनी भयावह है कि आए दिन यह नये रिकॉर्ड कायम कर रही है, शायद इसी का नतीजा है कि बाकी देशों ने भारत से दूरी बनाने का फैसला लिया है। ब्रिटेन के बाद अमेरिका ने भी अपने नागरिकों को भारत यात्रा से बचने की सलाह दी है।  इसके साथ यह भी कहा गया है कि यदि आप भारत की यात्रा करना चाहते हैं तो पहले पूरी तरह से वैक्सीनेट हो जाएं। इससे पहले ब्रिटेन ने भारत को ट्रैवल ‘रेड लिस्ट’ में डाल दिया है, इसके तहत अगले आदेश तक कोई भी भारतीय नागरिक ब्रिटेन की यात्रा नहीं कर पाएगा।

PunjabKesari

भारतीय नागरिक नहीं कर पाएंगे ब्रिटेन की यात्रा
  साथ ही विदेश से लौटे ब्रितानी लोगों के लिये होटल में 10 दिन तक पृथकवास में रहना अनिवार्य कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने 'हाउस ऑफ कॉमन्स' में इस बात की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन में कोरोना वायरस के तथाकथित भारतीय स्वरूप से पीड़ित होने के 103 मामले सामने आए हैं। इनमें से अधिकतर मामले विदेश से लौटे यात्रियों से संबंधित हैं। उन्होंने कहा कि उस स्वरूप का विश्लेषण किया गया ताकि यह पता लगाया जा सके कि नये स्वरूप के चिंताजनक परिणाम तो नहीं जैसे कि बड़े पैमाने पर इसका फैलना या इलाज और टीका तैयार करने में मुश्किल होना आदि।

नए नियम लागू 
मंत्री ने सांसदों को बताया कि आंकड़ों के विश्लेषण के बाद ऐहतियात के तौर पर हमने भारत को लाल सूची में डालने का मुश्किल लेकिन जरूरी फैसला लिया। इसका अर्थ है कि अगर कोई गैर-ब्रितानी या आइरिश बीते दस तक भारत में रहा है तो उसे ब्रिटेन में प्रवेश नहीं दिया जा सकता।हैनकॉक ने कहा कि नए नियमों को हल्के में नहीं लिया जा रहा और शुक्रवार से इन्हें लागू कर दिया जाएगा। इससे  पहले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय डाउनिंग स्ट्रीट ने देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेज वृद्धि के मद्देनजर अगले सप्ताह होने वाली प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की यात्रा रद्द करने की घोषणा की थी।

PunjabKesari

अमेरिका ने अपने नागरिकों को लेकर जताई चिंता
वहीं  अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (CDC) ने कहा कि भारत में जानलेवा कोरोना वायरस दिन पर दिन फैलता ही जा रहा है। ऐसे में उन्हे अपने  नागरिकों की चिंता  है,  उनसे अपील है कि इन खतरनाक परिस्थितियों में वह भारत की यात्रा करने से बचें। यदि आपको फिर भी भारत की यात्रा करनी ज्यादा जरूरी है, तो यात्रा से पहले पूरी तरह से टीका लगवाएं। इससे पहले ब्रिटेन ने भारत को 'रेड लिस्ट' में डाल दिया था।

PunjabKesari
 गैर-अमेरिकी नागरिकों पर भी लगी रोक
वहीं वाशिंगटन की बात की जाए तो यहां उन सभी गैर-अमेरिकी नागरिकों के देश आने पर रोक लगाई हुई है, जिन्होंने हाल के दिनों में यूरोप, चीन, ब्राजील, ईरान और दक्षिण अफ्रीका की यात्रा की है। अमेरिका में तेजी से लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। ऐसे में राष्ट्रपति जो बाइडेन को उम्मीद है कि साल के आखिर तक सभी अमेरिकियों को वैक्सीन लगा दी जाएगी।


Content Writer

vasudha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static