डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया बुरी तरह धड़ाम, शहबाज सरकार के फूले हाथ-पांव

punjabkesari.in Wednesday, May 18, 2022 - 03:22 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः अमेरिकी डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपए का लुढ़कना जारी है । आशंका है कि  इस महीने के अंत तक एक डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपए की कीमत 200 को पार कर जाएगाी। सोमवार को इंटरबैंक मार्केट में एक डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपए की वैल्यू 194 के ऐतिहासिक निचले स्तर तक पहुंच गई। इन हालात में कंगाली से जूझ रहे पाकिस्तान की नई शहबाज सरकार के हाथ पांव फूल रहे हैं कि स्थिति को किस तरह कंट्रोल में किया जाए।

 

पाकिस्तानी अखबार ट्रिब्यून के मुताबिक, पाकिस्तानी केंद्रीय बैंक के मुताबिक शुक्रवार को रुपया 192.53 रुपए पर बंद हुआ था। लेकिन, सोमवार को यह डॉलर के मुकाबले 1.70 रुपए की गिरावट के साथ 194.23 रुपए को छू गया। विशेषज्ञों के अनुसार, ऊर्जा की कीमतों में संभावित बढ़ोतरी के बीच भुगतान संतुलन संकट और खराब हो सकता है, और इससे रुपये पर दबाव बढ़ रहा है। यह संभावित बढ़ोतरी पाकिस्तान को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित करेगी, क्योंकि पाकिस्तान आयातित ऊर्जा पर बहुत अधिक निर्भर है। चालू वित्त वर्ष 2022 के पहले 10 महीनों में ऊर्जा आयात बिल पहले ही 72% बढ़ गया है।

 

एक रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तानी रुपए की तरह ही पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार पिछले 22 महीने के सबसे निचले स्तर 10.3 अरब डॉलर पर आ गया है। इसलिए, सामान्य 90 दिनों के आयात कवर की तुलना में पाकिस्तान का आयात कवर वर्तमान में घटाकर केवल 45 दिन कर दिया गया है। वहीं, पाकिस्तान के पास अब सिर्फ एक महीने के लिए विदेशों से सामान आयात करने का पैसा बचा है।

 

इसके अलावा अगले दो महीनों में पाकिस्तान को अलग से 4.4 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज चुकाना है और उसके बाद पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार में और भी ज्यादा कमी आ जाएगी। एक्सपर्ट्स का मानना है कि, अगर पाकिस्तान को फौरन मदद नहीं मिलती है तो पाकिस्तान की स्थिति भी श्रीलंका की तरह हो सकती है और बिजली के साथ साथ पाकिस्तान को भी जरूरी सामानों के लिए संघर्ष करना पड़ेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News