शरद पूर्णिमा की रात अमृत के साथ-साथ पा सकते हैं देवी लक्ष्मी से धन का भंडार

10/9/2019 10:24:13 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
यूं तो हिंद धर्म में ऐसे बहुत से दिन-वार के बारे में बताया गया है जिनका अधिक महत्व होता है। इन्हीं महत्वपूर्ण दिनों में एक दिन शामिल हैं शरद पूर्णिमा का। धार्मिक मान्यताओं के शरद पूर्णिमा का दिन बेहद खास होता है। बता दें शरद पूर्णिमा को कोजागरी पूर्णिमा, रस पूर्णिमा व आश्विन मास की पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। ज्‍योतिष विद्वानों की मानें तो पूरे साल में केवल यही एक दिन दिन होता है जिस दिन चन्द्रमा अपनी सोलह कलाओं से परिपूर्ण होता है। बताय जाता है इस दिन कोजागर व्रत भी माना गया है, जिसे कौमुदी व्रत भी कहा जाता है। पौराणिक कथाओं के मुताबिक इस दिन श्रीकृष्ण ने महारास रचाया था। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शरद पूर्णिमा की रात चन्द्रमा की किरणों से अमृत बरसाता है। इसी के चलते इस दिन उत्तर भारत में खीर बनाकर रात भर चांदनी में रखने की परपंरा है।
PunjabKesari, Punjab Kesari, Dharam, Sharad Purnima,शरद पूर्णिमा, कोजागरी पूर्णिमा, रस पूर्णिमा व आश्विन मास की पूर्णिमा, Ashwin purnima, Devi Lakshmi, देवी लक्ष्मी
इस बार शरद पूर्णिमा अक्टूबर की 13 तारीख़ को मनाई जाएगी। बता दें कि इस दिन से केवल चांद का महत्व ही नहीं बल्कि देवी लक्ष्मी का महात्म भी जुड़ा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अगर शरद पूर्णिमा को देवी लक्ष्मी की विधि-पूर्वक पूजा के साथ साथ इनसे जुड़े कुछ उपाय आदि किए जाए तो इनकी कृपा से जीवन में कभी धन की कमी नहीं होती।

ऐसा इसलिए क्योंकि मान्यता प्रचलिल है कि शरद पूर्णिमा की रात धन की देवी लक्ष्मी स्वर्ग से धरती पर पधारती हैं और अपने भक्तों पर अपनी कृपा बरसाती हैं।

तो अगर मां लक्ष्मी का आशीर्वाद पाने का ये मौका खोना नहीं चाहते तो आइए हम आपको बताते हैं इस दिन किए जाने वाले खास उपाय जिन्हें करने से आपके जीवन से हमेशा हमेशा के लिए पैसों की कमी दूर हो जाएगी। 
PunjabKesari, Punjab Kesari, Dharam, Sharad Purnima,शरद पूर्णिमा, कोजागरी पूर्णिमा, रस पूर्णिमा व आश्विन मास की पूर्णिमा, Ashwin purnima, Devi Lakshmi, देवी लक्ष्मी
सबसे पहले शरद पूर्णिमा की रात देवी लक्ष्मी के समक्ष घी का दीपक जलाएं। इसके बाद माता को गुलाब के फूल अर्पित करें और देवी को सफ़ेद मिठाई और इत्र अर्पित करें। फिर 'ॐ ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद महालक्ष्मये नमः'  मंत्र का 11 माला जप करें।

माना जाता है ऐसा करने से माता लक्ष्मी की कृपा से धन संबंधित सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं।

इसके अलावा अगर आप शरद पूर्णिमा की रात को माता लक्ष्मी की पूजा कर रहे हैं तो इस बात का खास ध्यान रखें कि पूजा में सुपारी अवश्य शामिल हो। जब पूजा संपन्न हो जाए तो उस ही सुपारी को अपने घर की तिज़ोरी में या अपने पर्स में रख दें।
PunjabKesari, beetal, सुपारी, पूजा की सुपारी
 


Jyoti

Related News