Pushya Nakshatra: खरीददारी के लिए बेहद शुभ माना जाता है ये योग

punjabkesari.in Wednesday, Dec 22, 2021 - 04:59 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार आज संकष्टी चतुर्थी के दिन यानि 22 दिसंबर दिन बुधवार को पुष्य नक्षत्र का संयोग बन रहा है। ज्योतिष विशेषज्ञों की मानें तो इसे बेहद शुभ माना जाता है। खासतौर पर अगर बात हो खरीददारी की या किसी भी तरह के नए काम की तो इस योग को बेहद लाभप्रद माना जाता है। तो वहीं क्योंकि आज संकष्टी चतुर्थी है, इसलिए आज का दिन अत्यंत शुभ माना जा रहा है। बता दें ज्योतिष शास्त्रों में पुष्य नक्षत्र को समस्त नक्षत्रों का राजा माना गया है। इसलिए इस नक्षत्र में खरीददारी करना व शुभ कार्य आदि प्रारंभ करना अच्छा होता है। तो आइए थोड़ा विस्तारपूर्वक जानते हैं क्या है पुष्य नक्षत्र- 

ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है 27 नक्षत्रों में आठवां नक्षत्र पुष्य माना जाता है। इसके स्वामी व देवता बृहस्पति और स्वामी शनि कहलाते हैं। मान्यता है कि जितने नक्षत्र हैं उन सभी में इस नक्षत्र को सबसे ज्यादा शुभ माना गया है। इसमें किया गया हर कार्य पुण्यदायी और तुरंत फल देने वाला होता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार पुष्य नक्षत्र 21 दिसंबर को रात्रि 10 बज कर 25 मिनट पर लग रहा है जो कि 23 दिसंबर को मध्य रात्रि 12 बजकर 45 मिनट तक रहेगा। इसके बाद अश्लेषा नक्षत्र लग जाएगा। इस तरह 22 दिसंबर को पूरे दिन पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग है।

इस दौरान क्या खरीदारी करें- 
बता दें सूर्य के धनु राशि में चले जाने से खरमास माह प्रारंभ हो जाता है। 

यूं तो इस दौरान कोई भी शुभ और मांगलिक कार्य करने की मनाही होती है, परंतु जब इस मास में पुष्य नक्षत्र का संयोग बनता है तो ये मनाही वर्जित हो जाती, क्योंकि इसे अत्यंत शुभ माना जाता है। 

मान्यता है कि इस नक्षत्र के काल में सोने के आभूषण या चांदी के सिक्के खरीदना सौभाग्यदायक माना जाता है। 

तो वहीं धार्मिक किंवदंतियों के अनुसार इस नक्षत्र में मां लक्ष्मी के श्री यंत्र की स्थापना करना शुभ होता है। 

माना जाता है कि ऐसा करने से आय और व्यापार में तरक्की होती है। 

इसके अतिरिक्त इस दिन दक्षिणावर्ती शंख खरीद कर उसका पूजन करने या गाय को गुड़ खिलाने से भी आर्थिक लाभ की प्राप्ति संभव होती है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News