क्या आप भी बाल खोलकर करती हैं ये काम तो हो जाएं सावधान!

punjabkesari.in Saturday, Aug 13, 2022 - 05:25 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
केश यानि कि बाल महिलाओं का श्रृंगार होते हैं। जो उनकी खूबसूरती प्रदान करते हैं। लेकिन स्त्रियों द्वारा बालों को लेकर आपकी कुछ गलतियां हंसती खेलती जिंदगी को उजाड़ सकती है। जी हां, ज्योतिष शास्त्र में बालों को खोल कर महिलाओं के द्वारा कुछ ऐसे कामों को करना वर्जित माना गया है। जिनको करने से जीवन में दुर्भाग्य आता है। अतः हम आपको बताने जा रहे हैं कि ऐसे कौन से वो काम जिनको बाल खोलकर भूलकर भी करना चाहिए। 
PunjabKesari Niti Shastra, Hindu Shastra Myths, Open Hair women, Open hair Myths, Open hair women myths, Jyotish Shastra, Khule baal, Khule hair mein na kareye kam, Jyotish shastra, Astrology, Astrology Myths, Dharm
सबसे पहली बात आपको बता दें कि महिलाओं को बाल खोलकर कभी भी पूजा-पाठ नहीं करना चाहिए। शास्त्रों में महिलाओं का बाल खोल कर पूजा-पाठ करना अशुभ माना गया है। बाल खोलकर पूजा-पाठ करने परिवार की सुख-समृद्धि चली जाती है। क्योंकि खुले हुए और बिखरे बालों को हिंदू धर्म में अमंगलकारी माना गया है। 

तो वही ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक महिलाओं को कभी भी बाल खोलकर भोजन नहीं बनाना चाहिए। ऐसा करने से भोजन में नकारात्मकता का वास होता है। साथ ही आपको बता दें कि जिस भोजन में बाल हो उसे उसी समय त्याग देना चाहिए। तो ऐसे में भूलकर भी बाल खोलकर भोजन न बनाएं।

इसके अलावा ज्योतिष शास्त्र में इस बात का भी वर्णन किया गया है कि संध्या के समय किसी भी स्त्री को बाल खोल कर बाहर नहीं जाना चाहिए। और न ही सूर्यास्त के बाद बालों को खोल कर दहलीज पर बैठना चाहिए। इससे जीवन में दुर्भाग्य आता है। इतना ही दांपत्य जीवन में भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। जानकारी के लिए बता दें कि शास्त्रों में सूर्यास्त के बाद के समय को तंत्र-मंत्र में नकारात्मक शक्तियों के जागने का समय कहा गया है। तो ऐसे में बाल खोल कर संध्या के समय बाहर जाना या फिर घर की दहलीज पर बैठना अनजान शक्तियों को आकर्षित करता है

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं । अपनी जन्म तिथि अपने नाम , जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर वाट्स ऐप करें


PunjabKesari

कभी भी दोनों हाथों से सिर नहीं छुजलाना चाहिए। चाहे वो महिला हो या पुरुष। बार-बार दोनों हाथों से बालों को छुजलाना धन हानि कराता है। इससे घर में गरीबी का वास होता है।

शास्त्रों की मानें तो। रात में बाल खोलकर सोना भी खुद को परेशानी में डालने के बराबर माना गया है। मान्यता है कि महिलाओं को रात में सोते समय चोटी बना ही सोना चाहिए। रात को बालों को खोल कर सोने से परिवार पर इसका दुष्प्रभाव पड़ता है।

पौराणिक मान्यताओं अनुसार जब माता सीता का विवाह भगवान राम से हुआ था, तब उनकी माता ने उनके बाल बांधते हुए कहा था कि कभी बालों को खुला मत रखना क्योंकि बंधे हुए बाल हमेशा रिश्तों को बांधकर रखते हैं। 
PunjabKesari Niti Shastra, Hindu Shastra Myths, Open Hair women, Open hair Myths, Open hair women myths, Jyotish Shastra, Khule baal, Khule hair mein na kareye kam, Jyotish shastra, Astrology, Astrology Myths, Dharm, Punjab Kesari

जाते जाते एक जरूरी बात आपको बता दें कि महिलाओं को केवल बाल तब ही खुले रखने चाहिए जब वह एकांत में अपने पति के साथ हो। 

अतः भूलकर भी स्त्रियों को बाल खोलकर ये काम नहीं करने चाहिए। जिससे उनके जीवन पर बुरा प्रभाव पड़े। और हमारी ये जानकारी आपको कैसी लगी। कमेंट करके जरूर बताएं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News