Market Astrology: आने वाले सप्ताह में सितारों का मार्केट पर प्रभाव !

punjabkesari.in Wednesday, Dec 07, 2022 - 11:20 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Market Astrology: आलोच्य सप्ताह (7 दिसंबर से 13 दिसम्बर तक) के दौरान चूंकि कोई सितारा अपनी पोजिशन चेंज नहीं करता इसलिए समस्त ग्रह तथा ग्रह योग ज्यों का त्यों ही अपने स्थान पर स्थिर रहता है। वास्तव में पिछले सप्ताह के आखिरी हिस्से में जो ग्रह योग बना था, वह इस पूरे सप्ताह पर इफेक्टिव रहेगा, इसलिए मोटे तौर पर बाजार उसी रुख के प्रभाव में इस सप्ताह चलता जाएगा। चूंकि चलते बाजार में उठा-पटक भी बनी रहेगी, इसलिए काम लिमिट का रखना ठीक रहेगा।

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं। अपनी जन्म तिथि अपने नाम, जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर व्हाट्सएप करें

यूं तो इस सप्ताह में बाजार में कमजोरी का असर बना रह सकता है फिर भी नोट करें कि मोटे तौर पर 5 दिसम्बर शाम छह बजे के करीब बना रुख ही इस सप्ताह में बना रहेगा।

तेल सोया, तेल मूंगफली, सरसों, अलसी, तोरिया, तिल, तेल, बिनौला, अरंडी,  खल, सींगदाना, मेंथा, पिपरामैंट, अन्य तेल पदार्थों तथा वनस्पति में यदि शुरू सप्ताह से मार्कीट नर्मी के प्रभाव में रहती है तो आगे भी नर्मी बनी रहेगी, वैसे 12 दिसम्बर नर्मी, 13 को उठापटक का रिएक्शन आएगा। काटन, पटसन, रूई, कपास, सन्न, सूत, सिल्क, स्टैपल, ऊनी, सूती, रेशमी कपड़े तथा यार्न इत्यादि में आम रुझान मंदी का बना रहेगा। शेयर मार्कीट में 6 दिसम्बर वाला रुख 11 दिसम्बर तक इफैक्टिव रहेगा, 12 दिसम्बर नर्मी तथा 13 दिसम्बर उठापटक होती रहेगी।

सोना, चांदी, हीरे-जवाहरात, बहुमूल्य पत्थरों तथा बहुमूल्य धातुओं में 5 दिसम्बर शाम छह बजे के बाद यदि मंदा बना होगा तो शुरू सप्ताह से मंदा चल पड़ेगा, किन्तु यदि तब तेजी बनी होगी तो फिर तेजी चलती जाएगी। वैसे मंदे का स्कोप ज्यादा है। 11, 12 दिसम्बर घटा-बढ़ी वाले। गुड़, चीनी, शक्कर तथा अन्य मीठी रसदार वस्तुओं तथा मिश्री इत्यादि में आम रुझान मंदा का बना रहेगा। गेहूं, गवारा, मटर, मक्की, चने, जौ, बाजरा, अरहर, मूंग, मांस तथा अन्य अनाज पदार्थों व दालों इत्यादि में 6 दिसम्बर के बाजार रुख के मुताबिक काम करना सही रहेगा। हाजिर मार्केट में बिकवाल की धमक तथा चहल-पहल दिखाई देगी, जबकि लवाल काम करने से बचना पसंद करेगा।

PunjabKesari kundli


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News