Kartik Maas 2021: तुलसी की पूजा से मिलती है पापों से मुक्ति

10/20/2021 5:44:16 PM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
हिंदू धर्म में कार्तिक मास का बेहद खास महत्व है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन श्री हरि विष्णु अपनी चार मास की निद्रा से जागते हैं, जिस कारण इस मास का पौराणिक महत्व अधिक बताया जाता है। जैसे कि हम ने आपको अपनी वेबसाइट के माध्यम से बता चुके हैं कि 21 अक्टूबर से 19 नवंबर तक कार्तिक माह चलेगा।

धार्मिक शास्त्रों के उल्लेख है कि श्री हरि को तुलसी जी बेहद प्रिय है, जिसके चलते कार्तिक मास में तुलसी पूजन का अधिक शुभ माना जाता है। ऐसी धार्मिक मान्यताएं हैं कि कार्तिक मास में तुलसी माता की पूजा-अर्चना करने वाले जातक के जीवन में धन का इजाफा होता है, साथ ही साथ सभी प्रकार के कष्टों से राहत मिलती है। 

स्‍कंद पुराण में कार्तिक मास के संदर्भ में वर्णन पढ़ने को मिलता है जिस प्रकार शास्‍त्रों में वेद, नदियों में गंगा और युगों में सतयुग से श्रेष्‍ठ कुछ नहीं है। उसी प्रकार से सभी महीनों में कार्तिक मास से श्रेष्‍ठ कुछ नहीं है। तो आइए जानते हैं वास्तु शास्त्र में भी उपयोगी माने जाने वाले तुलसी के पौधे से जुड़े तुलसी पूजा से जुड़े ये उपाय जिन्हें करने से धन में वृद्धि होती है।  

कार्तिक मास के दौरान ब्रह्म मुहूर्त में उठकर तुलसी के पौधे को जल चढ़ाना चाहिए, इससे सभी पापों से मुक्ति मिलती हैं। 

इसके अलावा इस मास तुलसी के पौधे का दान करना भी श्रेष्‍ठ माना गया है। 

कार्तिक के महीने में पड़ने वाले प्रत्येक गुरुवार को तुलसी के पौधे में कच्‍चा दूध डालना चाहिए। इसके अलावा प्रत्येक शाम को तुलसी के समक्ष दीपदान करें। 

ध्यान रखें तुलसी पर जल या दूध अर्पित करते समय निम्न मंत्र का जप करें-
हाप्रसाद जननी, सर्व सौभाग्यवर्धिनी आधि व्याधि हरा नित्यं, तुलसी त्वं नमोस्तुते।।

नौकरी और व्‍यापार में सफलता पाने के लिए, या पैसों के अधिक खर्च को रोकने के लिए कार्तिक मास के हर गुरुवार गुरुवार को तुलसी के छोटे से पौधे को पीले कपड़े में बांधकर ऑफिस या दुकान में रखें। मान्यता है कि ऐसा करने से कारोबार में चमक आती है और नौकरी में प्रमोशन की संभावना बढ़ती है। 

कार्तिक मास के प्रथम सोमवार को प्रातः स्‍नान करने के बाद तुलसी के 5 पत्‍ते तोड़कर भगवान शिव व भगवान विष्‍णु का ध्‍यान करें। इसके उपरांत इन पत्‍तों को गंगाजल से धोकर और पूरे दिन पूजा के स्‍थान में रख दें।

फि रात को सोने से पहले इन पत्‍तों को अपने तकिए के नीचे रखकर सोएं और शिव जी आराधना करें। मान्यता है कि ऐसा करने से जीवन के समस्त कष्ट दूर होते हैं। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News