गीता के उपदेश मानवता को दिखा रहे ज्ञान और शांति का मार्ग : खट्टर

punjabkesari.in Monday, Dec 05, 2022 - 10:37 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

कुरुक्षेत्र (ब्यूरो) : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर 5159 वर्ष पूर्व भगवान श्री कृष्ण ने अर्जुन को गीता के उपदेश देकर कर्म करने का संदेश दिया। इस पावन धरा पर दिए गए पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेश युगों-युगों से मानवता को ज्ञान और शांति का मार्ग दिखा रहे हैं। इस पवित्र ग्रंथ गीता ने मानवता को जीवन जीने का सार और विश्व को शांति सद्भावना का संदेश दिया है। इसलिए आज प्रत्येक नागरिक को पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेशों को अपने जीवन में धारण करना चाहिए। 

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं। अपनी जन्म तिथि अपने नाम, जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर व्हाट्सएप करें

मुख्यमंत्री मनोहर लाल रविवार को अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव में कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड और शिक्षा विभाग के तत्वावधान में आयोजित वैश्विक गीता पाठ कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि के रूप में बोल रहे थे। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने विधिवत रूप ने गीता पूजन और दीपशिखा प्रज्ज्वलित कर पावन पर्व पर वैश्विक गीता पाठ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस पावन धरा पर कुरुक्षेत्र के विभिन्न स्कूलों के 18 हजार विद्यार्थियों ने निर्धारित समय अनुसार वैश्विक गीता पाठ में पवित्र ग्रंथ गीता के 18 अध्यायों के 18 श्लोकों का उच्चारण किया। 

इन विद्यार्थियों ने जैसे ही वैश्विक गीता पाठ शुरू किया, उसी समय हरियाणा के सभी जिलों के राजकीय और निजी स्कूलों के 75 हजार से ज्यादा विद्यार्थी, विभिन्न देशों के नागरिक भी ऑनलाइन जुड़े और सभी ने एक सुर में विश्व शांति के लिए वैश्विक गीता का पाठ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 5 दिसम्बर को कुरुक्षेत्र जिले के सभी स्कूलों व वैश्विक गीता पाठ में भाग लेने वाले बच्चों की छुट्टी की घोषणा की। 

PunjabKesari kundli


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News