गीता जयंती 2019: इस खास दिन पर जरूर करें इन मंत्रों का जाप

12/7/2019 10:57:53 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
मार्गशीर्ष मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को गीता जयंती का उत्सव मनाया जाएगा और ये खास दिन कल यानि 08 दिसंबर दिन रविवार को पड़ रहा है। इसके साथ ही कल मोक्षदा एकादशी का व्रत भी रखा जाएगा। कहते हैं कि मोक्षदा एकादशी के दिन ही भगवान ने अर्जुन को गीता का ज्ञान दिया था। मान्यता है कि भगवान कृष्ण का पूजन करने से हर व्यक्ति के दुख दूर हो जाते हैं। आज हम आपको गीता जयंती पर जपे जाने वाले कुछ खास मंत्रों के बारे में बताएंगे। जिसका जाप करने से व्यक्ति को मोक्ष मिल सकता है।  
PunjabKesari,
दुखों से छुटकारा पाने के लिए
दुख या क्लेश के निवारण के लिए श्रीकृष्ण का ध्यान करते हुए 11 बार निम्नलिखित मंत्र का जप करना चाहिए-
मंत्र- कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने। प्रणतक्लेशनाशय गोविंदाय नमो नम।।

हर काम में जीत पाने के लिए
जीवन में आने वाली विपरीत परिस्थितियों में विजय प्राप्त करने के लिए श्रीमद्भगवद्गीता के इस श्लोक को पढ़ना चाहिए-
मंत्र- यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत। अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम्।।
PunjabKesari, Geeta Jayanti 2019, gita jayanti 2019, गीता जयंती 2019, geeta jayanti mahotsav 2019
जल्दी विवाह के लिए 
जिन लड़कों का विवाह नहीं हो रहा हो या प्रेम विवाह में विलंब हो रहा हो, उन्हें शीघ्र मनपसंद विवाह के लिए श्रीकृष्ण के इस मंत्र का 108 बार जप करना चाहिए-
मंत्र- क्लीं कृष्णाय गोविंदाय गोपीजनवल्लभाय स्वाहा।'

जिन कन्याओं का विवाह नहीं हो रहा हो या विवाह में विलंब हो रहा हो, उन कन्याओं को श्रीकृष्ण जैसे सुंदर पति की प्राप्ति के लिए माता कात्यायनी के इस मंत्र का जप वैसे ही करना चाहिए जैसे द्वापर युग में श्री कृष्ण को पति रूप में पाने के लिए गोकुल की गोपियों ने किया था।
मंत्र- कात्यायनि महामाये महायोगिन्यधीश्वरि। नन्दगोपसुतं देवि पतिं मे कुरू ते नम:।।
PunjabKesari, Geeta Jayanti 2019, gita jayanti 2019, गीता जयंती 2019, geeta jayanti mahotsav 2019
सुंदर संतान पाने के लिए
संतान प्राप्ति के लिए घर में श्रीकृष्ण के बालस्वरूप लड्डू गोपाल जी की प्रतिमा स्थापित करनी चाहिए। कान्हा जैसी सुंदर संतान के लिए इस मंत्र का उच्चारण करें-
मंत्र- सर्वधर्मान् परित्यज्य मामेकं शरणं व्रज। अहं त्वा सर्वपापेभ्यो मोक्षयिष्यामि मा शुच।।


Lata

Related News