See More

विदेशी श्रद्धालुओं को मंदिर निर्माण में सहयोग देने के लिए अभी करना होगा इंतजार

2020-08-01T09:50:01.397

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
अयोध्या: मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की जन्मभूमि पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 5 अगस्त को भूमि पूजन के साथ ही राम मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा लेकिन विदेशी भक्त राम मंदिर के निर्माण में दान नहीं कर सकेंगे। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सूत्रों के अनुसार, राम मंदिर के निर्माण में विदेशी रामभक्त दान नहीं कर सकेंगे क्योंकि रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अभी विदेशी मुद्रा में दान स्वीकार नहीं किया है। ट्रस्ट अभी केवल भारत में रहने वाले रामभक्तों से ही दान स्वरूप सहयोग लेगा।
PunjabKesari, Ayodhya, Sri Ram Ayodhya, Sri Ram janam Bhoomi, Ram janam bhoomi Ayodhya, Sri Ram, Ram mandir, Dharmik Sthal, Religious Place in india, Hindu Teerth Sthal, हिंदू धार्मिक स्थल
उन्होंने बताया कि विदेशी मुद्रा लेने की एक व्यवस्था है जिसके लिए पंजीकरण करवाना होगा और ट्रस्ट अभी पंजीकरण नहीं करवाएगा। राम मंदिर के पक्ष में फैसला आने के बाद 5 अगस्त से मंदिर निर्माण प्रारंभ हो जाएगा जिसके लिए रामभक्त सहयोग में दान देने के लिए लालायित हैं। ट्रस्ट के मुताबिक विदेशों में रहने वाले रामभक्त मंदिर निर्माण में सहयोग देने के लिए लगातार ट्रस्ट से सम्पर्क कर रहे हैं लेकिन ट्रस्ट ने विदेशी मुद्रा को लेने से इंकार कर दिया है। 
PunjabKesari, Ayodhya, Sri Ram Ayodhya, Sri Ram janam Bhoomi, Ram janam bhoomi Ayodhya, Sri Ram, Ram mandir, Dharmik Sthal, Religious Place in india, Hindu Teerth Sthal, हिंदू धार्मिक स्थल
उन्होंने बताया है कि विदेशों से लिए जाने वाले दान अभी नहीं लिए जा सकेंगे क्योंकि विदेशी मुद्रा के लिए भारतवर्ष में एक व्यवस्था है। हमें विदेशी मुद्रा अधिनियम के तहत पंजीकृत कराना होगा और उसके बाद ही विदेशी मुद्रा को लिया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि हम पहले भारत में रहने वाले रामभक्तों से ही दान स्वीकार करेंगे।
PunjabKesari, Ayodhya, Sri Ram Ayodhya, Sri Ram janam Bhoomi, Ram janam bhoomi Ayodhya, Sri Ram, Ram mandir, Dharmik Sthal, Religious Place in india, Hindu Teerth Sthal, हिंदू धार्मिक स्थल


Jyoti

Related News