शुक्रवार के दिन मंदिर में जाकर देवी लक्ष्मी को भेंट करें ये तीन चीज़ें

09/24/2021 12:42:34 PM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
धार्मिक व ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शुक्रवार का दिन देवी लक्ष्मी को समर्पित है। यही कारण है कि इस दिन मुख्य रूप से देवी लक्ष्मी की आराधना की जाती है। सनातन धर्म के ग्रंथों में देवी लक्ष्मी को धन की देवी का दर्जा प्राप्त है। जिस कारण हिंदू धर्म से संबंध रखने वाला लगभग हर व्यक्ति इनकी विधि विधान से अर्चना करते हैं ताकि इनकी कृपा से जीवन में अपार धन आदि पाया जा सकता है। इसके अलावा ये दिन माता कालिका और शुक्राचार्य का भी कहलाता है। ज्योतिष शास्त्र में इस दिन किए जाने वाले पूजन आदि के अलावा कई तरह के उपाय भी बताए गए हैं। तो चलिए जानते हैं शुक्रवार के दिन देवी लक्ष्मी के भक्तों को मंदिर में जाकर कौन सी खास वस्तुएं अर्पित की जानी चाहिए। 

कमल का फूल: शास्त्रों के अनुसार देवी लक्ष्मी को कमल का फूल अधिक प्रिय है। अतः देवी लक्ष्मी की पूजा में कमल का फूल होना अति आवश्यक होता है। इसलिए अगर शुक्रवार के दिन इनकी पूजा करें तो कमल का फूल जरूर अर्पित करें। बता दें यदि कमल का फूल न अर्पित कर पाएं तो केवड़े के फूल भी अर्पित कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त चूंकि देवी लक्ष्मी अर्धांग भगवान विष्णु को पीला रंग अधिक प्रिय है, इसलिए इन्हें पीले फूल भी अर्पित किए जा सकते हैं तथा लाल गुलाब के फूल भी अर्पित किए जा सकते हैं। 

शुक्रवार के दिन पीले रंग के केसर भात भी देवी लक्ष्मी को अर्पित करना चाहिए, इससे देवी प्रसन्न होती हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माता लक्ष्मी को पीले और सफेद रंग के मिष्ठान भी अर्पित किए जा सकते हैं।

हिंदू धर्म में नारियल को श्रीफल कहा जाता है। इसमें सबसे शुद्ध जल भरा होता है। देवी लक्ष्मी को श्रीफल अधिक प्रिय है, इसलिए इनकी पूजा में इसका उपयोग जरूर करें। 

इन सब के अतिरिक्त शुक्रवार के  दिन महालक्ष्मी मंदिर में देवी लक्ष्मी को खीर, हलुआ, ईख (गन्ना), सिघाड़ा, मखाना, बताशे, अनार, पान और आम्रबेल का भोग अर्पित करना चाहिए। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Recommended News