Chanakya Niti Sutra: ऐसे लोगों से दूर रहेंगे तो कभी हार का मुंह नहीं देखेंगे

punjabkesari.in Sunday, Jul 03, 2022 - 01:50 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
आचार्य चाणक्य एक ऐसे विद्वान थे जिनकी सीख कल जितनी प्रासंगिक थी, आज भी उतनी उपयोगी है। आप भी अपना जीवन संवारना या दुष्प्रभावों से मुक्ति चाहते हैं तो इनके द्वारा लिखी गई नीतियों में बहुत सी ऐसी बाते जानने को मिलेंगी, जिनसे आप खुद को सफल और हर कार्य के लिए सक्षम बना सकते हैं। इनकी बातें भले ही थोड़ी कठोर क्यों न हों लेकिन व्यक्ति प्रेरित हो ही जाता है। आचार्य चाणक्य ने जिंदगी के हर पहलू के बारे में बात की है जैसे जीवन, समाज, नौकरी, व्यापार, मित्र, शत्रु, परिवार, स्त्री आदि। तो आईए जानें कुछ ऐसी बातें, जिन्हें अपनाने से कभी भी हार का मुंह नहीं देखना पड़ेगा।

PunjabKesari Chanakya Niti Sutra, Chanakya Niti, Chanakya, Niti In Hindi, Acharya Chanakya, Chanakya Niti In Hindi, Motivational Concept, Motivational theme, Dharam, Punjab kesari

न दुर्जनेषु भागधेय: कर्तव्य:

भावार्थ : दुर्जन व्यक्ति के साथ अपने भाग्य को नहीं जोडना चाहिए। ऐसे व्यक्ति के साथ कभी सांझा कार्य न करें, जो दुर्जन हो। समाज में जिसका नाम न हो और लोग जिसे हीन दृष्टि से देखते हों, ऐसा व्यक्ति हानि ही पहुंचाता है। ‘सदाचार’ से मनुष्य का यश और आयु दोनों बढ़ती हैं।

PunjabKesari Chanakya Niti Sutra, Chanakya Niti, Chanakya, Niti In Hindi, Acharya Chanakya, Chanakya Niti In Hindi, Motivational Concept, Motivational theme, Dharam, Punjab kesari

1100 रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं। अपनी जन्म तिथि अपने नाम, जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर वाट्स ऐप करें

आचारादायुर्वर्धते कीर्तिश्च।
भावार्थ : सदाचारी व्यक्ति कभी भी दुष्कर्मों में लिप्त होकर अपने शरीर को क्षीण नहीं करता जबकि दुराचारी व्यक्ति भोग-विलास में डूबकर स्वयं को नष्ट कर लेता है इसीलिए सदाचारी व्यक्ति की आयु और यश बढ़ते ही रहते हैं।

PunjabKesari, kundlitv


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News