बैंक ऑफ बड़ौदा ने ग्राहकों को दिया दिवाली गिफ्ट, सस्ता किया लोन

2020-11-11T16:22:59.483

नई दिल्ली: बैंक ऑफ बड़ौदा ने बुधवार को लोन की दरों में कटौती करने का निर्णय लिया है। बैंक ने विभिन्न अवधि के लिए सीमांत लागत धन-आधारित उधारी दर (एमसीएलआर) में 0.05 प्रतिशत कटौती की घोषणा की। बैंक ऑफ बड़ौदा ने शेयर बाजार को बताया बैंक ने सीमांत लागत धन-आधारित उधारी दर (एमसीएलआर) को संशोधित किया है, जो 12 नवंबर 2020 से लागू है।

इसके तहत संशोधित एक वर्षीय एमसीएलआर 7.5 प्रतिशत की जगह 7.45 प्रतिशत होगी। यह दर ऑटो, खुदरा, आवास जैसे सभी उपभोक्ता ऋणों के लिए मानक है। एक दिन से लेकर छह महीने तक के ऋण पर एमसीएलआर को घटाकर 6.60 से 7.30 प्रतिशत तक कर दिया गया है।

6 महीने की अवधि वाले लोन पर घटी MCLR दरें
बैंक ने कहा कि दूसरे टेन्योर में एक दिन से लेकर 6 महीने तक अवधि वाले लोन की MCLR अब घटकर 6.60-7.30 फीसदी पर आ गई। दोपहर 12.48 बजे BSE पर बैंक ऑफ बड़ौदा के शेयर 1.66 फीसदी गिरावट के साथ 47.40 रुपए पर ट्रेड कर रहे थे। 

BRLLR में भी हुई थी कटौती
इससे पहले बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा ने रेपो दर से जुड़ी ऋण ब्याज दर (BRLLR) को 7 फीसदी से घटाकर 6.85 प्रतिशत किया था। बैंक की नई दरें 1 नवंबर 2020 से लागू है। इससे होम लोन, मोर्टगेज लोन, कार लोन, एजुकेशन लोन, पर्सनल लोन आदि के ग्राहकों को फायदा होगा।

फेस्टिव सीजन के लिए भी छूट
इससे पहले बैंक ने फेस्टिव सीजन को देखते हुए होम और कार लोन पर छूट की पेशकश की थी। BRLLR में कटौती के बाद होम लोन पर ब्याज 6.85 फीसदी और कार लोन पर 7.10 फीसदी, मोर्टगेज लोन पर 8.05 फीसदी और एजुकेशन लोन पर 6.85 फीसदी से शुरू होगा। 

कैनरा बैंक ने भी एमसीएलआर में कटौती की थी
सरकारी क्षेत्र के केनरा बैंक ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट्स (MCLR) में 0.05 से 0.15 प्रतिशत तक की कटौती की थी। बदली हुई दरें 7 नवंबर से लागू हो चुकी हैं। बैंक की ओर से 1 साल के लोन पर MCLR में 0.05 प्रतिशत की कटौती की गई है। अब नई दरें 7.40 प्रतिशत से घटकर 7.35 फीसदी पर आ गई हैं।


Author

rajesh kumar

Recommended News