उद्योगपतियों ने कहा, कोविड की दूसरी लहर से निपटने को बेहतर तरीके से तैयार है उद्योग

2021-04-21T22:59:18.657

नयी दिल्ली, 21 अप्रैल (भाषा) उद्योग के कई दिग्गजों ने अर्थव्यवस्था की पुनरुद्धार की संभावना में भरोसा जताया है। इनका कहना है कि निवेश चक्र अब सुधर रहा है और कंपनियां अपनी क्षमता और बैक-एंड ढांचे में निवेश कर रही है।
सुनील कान्त मुंजाल, हर्ष पति सिंघानिया और संजय किर्लोस्कर जैसे उद्योगपतियों ने ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन (एआईएमए) के एक कार्यक्रम में एकमत से यह राय जताई कि उद्योग पिछले साल की तुलना में इस बार कोविड-19 की दूसरी लहर के लिए अधिक बेहतर तरीके से तैयार हैं।
हीरो एंटरप्राइजेज के चेयरमैन सुनील कान्त मुंजाल ने कहा कि वित्तीय निवेशकों और औद्योगिक कंपनियों दोनों के लिए निवेश के काफी अवसर हैं।
उन्होंने कहा कि पिछली 12-14 तिमाहियों से निवेश चक्र सुस्त था, लेकिन अब इसमें सुधार आ रहा है।
जेके पेपर के वाइस चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक हर्ष पति सिंघानिया ने कहा कि जहां अब क्षमता का पूरा इस्तेमाल हो रहा है, समय आ गया है कि वहां निवेश किया जाए। हालांकि, इसके साथ ही सिंघानिया ने कहा कि कई क्षेत्र और कंपनियां अब भी संकट में हैं और वे निवेश नहीं करेंगी।
किर्लोस्कर ब्रदर्स के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक संजय किर्लोस्कर ने कहा कि कारोबारी मॉडल बदल रहा है और कंपनियों का निवेश अब काफी हद तक क्षमता के बजाय बैक-एंड पर केंद्रित है।
उन्होंने कहा कि उनके समूह ने 3डी प्रिटिंग, ऑगमेंटेड रियल्टी और वर्चुअल रियल्टी जैसे क्षेत्रों में निवेश किया है।
महामारी की दूसरी लहर के बारे में सिंघानिया ने कहा कि पिछली बार कंपनियों को यह नहीं पता था कि लॉकडाउन का उनपर क्या प्रभाव पड़ेगा।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

PTI News Agency

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static