प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करें

punjabkesari.in Thursday, Jul 21, 2022 - 07:39 PM (IST)

चण्डीगढ़ 21 जुलाई-(अर्चना सेठी) हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आज कहा कि प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करें जोकि साइन्टिफिक टेम्परामेंट, मॉरल वैल्युज, टैक्निकल व रिसर्च ओरिएंडिट अर्थात् वैज्ञानिक स्वभाव, नैतिक मूल्यों, तकनीकी व अनुसंधान उन्मुखी है। देश में यह नई शिक्षा नीति वर्ष 2030 तक लागू करने का लक्ष्य रखा गया है। परंतु हरियाणा सरकार ने इसे प्रदेश में वर्ष 2025 तक लागू करने का निर्णय लिया है।

 

राज्यपाल दत्तात्रेय आज गुरुग्राम के सेक्टर-53 स्थित आईआईएलएम युनिवर्सिटी के दूसरे दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। इस समारोह में उन्होंने विश्वविद्यालय के 170 विद्यार्थियों को स्नातक, स्नातकोत्तर डिग्रियां तथा मैडल व अवार्ड प्रदान किए। इन 170 विद्यार्थियों में 84 छात्राएं थी। इस मौके पर उपस्थित विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि श्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद नई सोच के साथ देश में परिवर्तन लाने का प्रयास किया है।

 

राज्यपाल ने कहा कि हरियाणा में भी युवाओं के कौशल विकास के लिए लगभग एक हजार करोड़ रुपए से भी अधिक की लागत से पलवल जिला के गांव दुधौला में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की स्थापना की जा रही है। इसके लिए उन्होंने हरियाणा सरकार को बधाई भी दी।

 

युवाओं से सीधा संवाद करते हुए राज्यपाल ने कहा कि जीवन में सीखना कभी ना छोड़े। मरते दम तक हर व्यक्ति का सीखना जारी रहता है। उन्होंने युवाओं का आह्वान किया कि आप जीवन में सकारात्मक दृष्टिकोण रखें, तो आप अवश्य आगे बढेंग़े। उन्होंने कहा कि युवा उद्यमशीलता अपनाकर नौकरी देने वाले बनें। राज्यपाल ने युवाओं के व्यक्तित्व विकास पर भी बल दिया और उनसे कहा कि प्रतिदिन एक घंटा खेल के मैदान में अवश्य लगाएं जिससे वे शारीरिक रूप से फिट होंगे और मानसिक रूप से स्वस्थ बनेगे।

 

उन्होंने कहा कि युवा जीवन में आत्म विश्वास के साथ चुनौतियों का सामना करें। इसके साथ राज्यपाल ने यह भी कहा कि आज के समारोह में डिग्रियां तथा अवार्ड प्राप्त करने वालों में लड़कियों की संख्या ज्यादा देखने को मिली, जो समाज के लिए अच्छे संकेत हैं। उन्होंने कहा कि लड़कियां जितना आगे बढेंग़ी उतना ही हमारा समाज भी आगे बढेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Archna Sethi

Related News

Recommended News