AIIMS चीफ बोले- 'कोरोना की तीसरी लहर सिर्फ बच्चों के लिए खतरनाक' ऐसा कोई सबूत नहीं

2021-06-09T18:05:41.95

नेशनल डेस्क: कोरोना की दूसरी लहर देश में थमनी शुरू हो गई है। हालांकि संकट अभी टला नहीं है क्योंकि देश में अभी कोरोना तीसरी लहर आना बाकी है। वहीं कयास लगाए जा रहे हैं की कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। तीसरी लहर को लेकर लगाए जा रहे कयासों पर एम्स के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया का बयान आया है।

PunjabKesari

एम्स के डायरेक्टर ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों पर असर डालेगी इसको लेकर अभी कोई प्रमाण सामने नहीं आया है। डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि दुनियाभर में किसी सर्वे से ऐसी बात नहीं निकली है कि सिर्फ बच्चे ही तीसरी लहर में प्रभावित होगें।

PunjabKesari

डॉ गुलेरिया ने कहा कि कोरोना का सिर्फ बच्चों पर असर होने की बात कहना गलत है। क्योंकि सालभर से देखने को मिल रहा है कि संक्रमण हर आयु वर्ग में है लेकिन जानलेवा 45 साल से अधिक उम्र वालों पर है या फिर जिनको गंभीर बीमारी है। डॉ गुलेरिया ने कहा कि यह अभी तक किसी वैज्ञानिक ने नहीं कहा कि तीसरी लहर में सिर्फ बच्चे प्रभावित होंगे बड़े नहीं। एम्स चीफ ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में भी कई बच्चे प्रभावित हुए हैं। उनमें बुखार और खांसी जैसे लक्षण देखने को मिले लेकिन वे इस वायरस से उबरे भी है।

PunjabKesari

डॉ गुलेरिया ने कहा कि नहीं लगता कि भविष्य में बच्चों में किसी गंभीर संक्रमण का खतरा देखने को मिलेगा। बता दें कि देश में लगाता दो दिन से कोरोना के केस अब एक लाख से कम आ रहे हैं, हालांकि इस महामारी से मरने वालों का आंकड़ा कम होता नजर नहीं आ रहा है। पिछले 24 घंटे में देश में  2219 मरीजों की मौत हुई है।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Recommended News