आज के दिन हुई थी असहयोग आंदोलन की शुरूआत,  396 हड़तालों से हिल गई थी अंग्रेजी शासन की नींव

2021-08-01T12:23:58.63

नेशनल डेस्क: अंग्रेज हुक्मरानों की बढ़ती ज्यादतियों का विरोध करने के लिए महात्मा गांधी ने 1920 में एक अगस्त को असहयोग आंदोलन की शुरूआत की। आंदोलन के दौरान विद्यार्थियों ने सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में जाना छोड़ दिया। वकीलों ने अदालत में जाने से मना कर दिया। 

केंद्र पर राहुल गांधी का 'वीडियो वार' लिखा- जुलाई चला गया, वैक्सीन की कमी नहीं गयी

कई कस्बों और नगरों में श्रमिक हड़ताल पर चले गए। सरकारी आँकड़ों के मुताबिक 1921 में 396 हड़तालें हुई जिनमें छह लाख श्रमिक शामिल थे और इससे 70 लाख कार्यदिवसों का नुकसान हुआ। शहरों से लेकर गांव देहात में इस आंदोलन का असर दिखाई देने लगा और सन 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के बाद असहयोग आंदोलन से पहली बार अंग्रेजी राज की नींव हिल गई।

भारत काे फिर डराने लगा कोरोना, लगातार 5वें दिन 40 हजार से ज्यादा आए मामले
 

फ़रवरी 1922 में किसानों के एक समूह ने संयुक्त प्रांत के गोरखपुर जिले के चौरी-चौरा पुरवा में एक पुलिस स्टेशन पर आक्रमण कर उसमें आग लगा दी। हिंसा की इस घटना के बाद गाँधी जी ने यह आंदोलन तत्काल वापस ले लिया।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Recommended News