See More

पुलवामा पार्ट 2ः कश्मीर की गाड़ी का कठुआ कनेक्शन

2020-05-28T15:23:24.133

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 2019 को दोहराने की आतंकवादियों की साजिश को सुरक्षाबलों की मुस्तैदी के चलते नाकाम कर दिया गया है। वहीं अब इसके तार भी खुलने लगे हैं। आतंकवादियों ने सेंटरों कार में आईईडी जैसा विसफोटक प्लांट किया था और उनकी साजिश का शिकार हो सकतीं थी सीआरपीएफ की तकरीबन बीस गाड़ियां और चार सौ जवान। गाड़ी का चालक मौके से भागने में कामयाब रहा है पर अब उसका पता जल्द सकता है। कार में जो नंगर लगा था वो फेक है और उसी फेक नंबर स ेअब आतंकी पता लगाया जाएगा।

PunjabKesari
कार में स्कूटर की नंबर प्लेट
कार का जो नंबर है वो जेके028बी-1426 था। यह नंबर स्कूटर का है जोकि कठुआ से रजिस्टर थी। यह भी पता चला है कि स्कूटर कठुआ के एक स्थानीय निवासी की है। हांलाकि अधिकारियों ने इस बारे में ज्यादा नहीं बताया पर इस बात की खबर मिली है कि इसी से आतंकी का पता चलेगा। आपको बता दें कि कठुआ सीमांत क्षेत्र है। इसका हीरानगर इलाका आतंकियों की घुसपैंठ के लिए जाना जाता है। 

PunjabKesari
एनआईए कर सकती है जांच
जनकारी के अनुसार इस मामले की जांच एनआईए कर सकती है। एक टीम मौके पर जाकर घटना की पूरी जानकारी लेगी। टीम कठुआ का भी दौरा कर सकती है। एजेंसियां इस पूरी साजिश के तार जोड़ने में लगी हुई हंै।

PunjabKesari
जैश और हिजब साथ-साथ
कश्मीर रेंज के आईजी के अनुसार इस साजिश में हिज्बुल और जैश दोनों साथ हैं। जैश ने इस सारी योजना को बनाया और हिज्ब ने उसका साथ दिया। उनके अनुसार कार का पता चल गया था और जब उसे रोकने के लिए वार्निंग फायर किया गया तो मौके का फायदा उठाकर आतंकी भाग गया।

PunjabKesari
आतंकी और फौजी भाई का साथ
कश्मीर के आईजी ने प्रेस वार्ता में कहा कि जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी को यह काम सौंपा गया था। उन्होंने इसके लिए जंग-ए-बद्र का दिन चुना था। इसमें आदिल डार और फौजी भाई नामक जैश का पाकिस्तानी कमांडर शामिल थे। उन्होंने यह भी बताया कि हमले के इनपुटस थे कि लश्कर, जैश और हिज्ब मिलकर इस काम को करेंगे।
 
 


Monika Jamwal

Related News