सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड Live: गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को लेकर पानीपत पहुंची पंजाब पुलिस

punjabkesari.in Tuesday, Jun 14, 2022 - 10:22 PM (IST)

नेशनल डेस्क: तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस को पंजाब लाया जा रहा है। पंजाब पुलिस लॉरेस बिश्नोई को लेकर हरियाणा के पानीपत पहुंच चुकी है। इससे पहले बिश्नोई की रिमांड मिलने के बाद दिल्ली के आरएमएल अस्पताल में मेडिकल चेकअप कराया गया। कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद पंजाब पुलिस देर शाम लॉरेंश बिश्नोई को लेकर दिल्ली से रवाना हुई। बिश्नोई को पंजाब लाने तक पूरी वीडियोग्राफी की जाएगी।

बता दें कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड की जिम्मेदारी लेने वाले कुख्यात गैंगस्टर लाॅरेंस बिश्नोई को आज मंगलवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट ने पंजाब पुलिस को लॉरेंस बिश्नोई को गिरफ्तार करने की मंजूरी दी थी। वहीं पंजाब पुलिस ने लॉरेंस को अपनी कस्टडी में भी ले लिया है। बता दें कि दिल्ली पुलिस में लॉरेंस बिश्नोई की 5 दिन की हिरासत आज खत्म हो गई थी, जिसके बाद  पंजाब के एडवोकेट जनरल ने लॉरेंस विश्नोई की ट्रांजिट रिमांड के लिए अर्जी दाखिल की।

वही,अब गैंगस्टर लॉरेंस से  सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में पूछताछ होगी जिसे लेकर पंजाब पुलिस की टीम को अलर्ट पर कर दिया गया है। सुनवाई के दौरान पंजाब पुलिस ने मूसेवाला हत्याकांड में लॉरेंस के खिलाफ कई अहम सबूत कोर्ट में पेश किए। पुलिस ने गोल्डी बराड़, लॉरेंस गैंग और सचिन थापन की फेसबुक पोस्ट समेत मानसा कोर्ट का अरेस्ट वारंट भी लेकर गई। जो मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह के बयान के आधार पर दर्ज केस के आधार पर मिला था। इसी के आधार पर पुलिस ने कहा कि इस गंभीर मामले में लॉरेंस से पूछताछ जरूरी है क्योंकि मर्डर में उसका बड़ा हाथ है।
 

जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले गैंगस्टर लॉरेंस ने अपनी जान को खतरा बताते हुए पंजाब जाने से मना किया था। उसका कहना है कि पंजाब पुलिस मूसेवाला हत्याकांड को लेकर उसका एनकाउंटर कर सकती है। उसने इस मामले में लॉरेंस ने NIA कोर्ट और पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, लेकिन वहां उसे कोई राहत नहीं मिली।
 

वहीं आज कोर्ट में इस मामले में लॉरेंस के वकील ने कहा कि पंजाब पुलिस लॉरेंस को हथकड़ी में सुरक्षित लेकर जाए। पुलिस कोई ऐसा मौका न छोड़े कि जिसमें फेक एनकाउंटर की कोई गुंजाइश बचे। पुलिस इस मामले में एफिडेविट दायर करे।  इसके अलावा लॉरेंस के वकील विशाल चोपड़ा ने पंजाब पुलिस की ट्रांजिट रिमांड की मांग का विरोध करते हुए कहा कि विश्नोई को पंजाब में जान का खतरा है।अगर लारेंस को पंजाब ले जायगा गया तो उसका फेक एनकाउंटर भी हों सकता है। विशाल चोपड़ा ने कोर्ट को बताया कि दिल्ली की मकोका कोर्ट में भी ट्रायल पेंडिंग है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा विश्नोई को पंजाब ले जाने पर लगाए के स्टे का हवाला भी कोर्ट को देते हुए ट्रांजिट रिमांड का विरोध किया है।
 

उधर, लॉरेंस की जान को खतरा के उठते सवालों पर पंजाब पुलिस  की ओर से SP स्तर के अधिकारी की लॉरेंस को पंजाब लाने की जिम्मेदारी लगाई गई है, इतना ही नहीं पंजाब पुलिस ने वीडियो कैमरा भी साथ रखा है।  पंजाब पुलिस ने कहा कि लॉरेंस की सुरक्षा का कोई खतरा नहीं है, गाड़ियों में कैमरे लगे हैं और पुलिसकर्मियों के पास आधुनिक हथियार है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anu Malhotra

Related News

Recommended News