सिद्धू मूसावाला की हत्या का फायदा उठा रहा पाकिस्तान ! सोशल मीडिया पर छेड़ा दुष्प्रचार अभियान

punjabkesari.in Sunday, Jun 05, 2022 - 12:37 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः  सदियों से पाकिस्तान अपने भारत विरोधी दुष्प्रचार एजेंडे को हवा दे रहा है। भारत के हालात चाहे राजनीतिक, आर्थिक या मानवीय संकट के हों पाकिस्तान ने हमेशा इनका फायदा उठाने की कोशिश की । हाल ही में लोकप्रिय पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या को लेकर भी पाकिस्तान ने अपने अभियान को चलाने के लिए एक उपयुक्त मौका समझा और दुष्पचार शुरू कर दिया । पाकिस्तान स्थित सोशल मीडिया अकाउंट देश के भीतर तनावपूर्ण माहौल बनाने के लिए प्रसिद्ध पंजाबी रैपर सिद्धू मूसेवाला की मौत के आसपास की परिस्थितियों के बारे में निराधार दावे और किस्से फैला रहे हैं। यह जानकारी एक रिपोर्ट में दी गई है।

PunjabKesari

पंजाब के मानसा में सिद्धू मूसेवाला की गोली मारकर हत्या करने की खबर के साथ, पाकिस्तान के कीबोर्ड योद्धाओं ने #RawKilledMoosewala पर  घटना की कहानी को बदलकर  पेश किया। यह खबर सबसे पहले 29 मई को शाम करीब 6:15 बजे सामने आई और ट्विटर पर जो पहला ट्वीट आया वह एक पाकिस्तानी अकाउंट का था। इसके बाद हैशटैग #Moosewala पर प्रसार शुरू हो गया। बिना किसी आश्चर्य के, सभी पाकिस्तानी खाते थे। हैशटैग में योगदान देने वाले सभी हैंडल देख कर पाकिस्तान की मंशा का अदाजा लगाया जा सकता है।  नीचे दिया गया ग्राफ  उन यूजर्स के बारे में बताता है जिन्होंने #RAWKilledMoosewala के हैशटैग पर सबसे ज्यादा ट्वीट किया है। इन सभी यूजर्स ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या के लिए रॉ को दोषी ठहराया और गलत सूचना फैलाई। ये सभी खाते पाकिस्तान के हैं।

PunjabKesari

@masheengunmulla ने सबसे अधिक बार ट्वीट किया है और उसके बाद @haiderzarrar1 जिनका अकाउंट अब मौजूद नहीं है। @awaisikram788 और @truthse68829926 ने भी इसी विषय पर ट्वीट किया था। कुछ खाते विशेष रूप से इसी उद्देश्य के लिए सामने आए और एजेंडा को आगे बढ़ाने के बाद उन्होंने अपना उपयोगकर्ता नाम बदल दिया । पाकिस्तान की जानी-मानी हस्तियों द्वारा एजेंडा उठाए जाने के तुरंत बाद, कुछ सिख संगठनों ने मोर्चा खोल दिया। उन्होंने 1984 और मूसेवाला की हत्या के बीच समानताएं दिखाने का भी प्रयास किया। 


 PunjabKesari


हालांकि इस भीषण हत्या की जांच अभी शुरू हुई है, लेकिन पाकिस्तान स्थित ट्विटर खातों से उनकी मौत के बारे में एक समन्वित गतिविधि बनी हुई है।  आंकड़ों के अनुसार पाकिस्तान स्थित खाते भारत के भीतर और तनाव को ट्रिगर करने के लिए गायक की मौत को भुना  रहे हैं।  विभिन्न अकाउंट ट्विटर पर हैशटैग सिद्धूमूसेवाला, हैशटैग सिद्धू मूसेवाला डेथ और हैशटैग रॉ किल्ड सिद्धू मूसेवाला का इस्तेमाल कर रहे हैं। इनमें से हैशटैग सिद्धूमूसेवाला  ट्विटर पर 389,000 मेंशन्स और फेसबुक पर 9,629 पोस्ट के साथ सबसे अधिक रीच हासिल की।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News