भरूच हादसा: स्ट्रेचरों पर जले मिले मरीजों के शव, आईसीयू वार्ड पूरी तरह जलकर खाक

5/1/2021 11:59:20 AM

नेशनल डेस्क:  गुजरात के भरूच स्थित एक अस्पताल में लगी आग में जान गंवाने वाले कोविड-19 के मरीजों के रिश्तेदार शनिवार को इमारत के बाहर रोते-बिलखते नजर आए जो हादसे के लिए अस्पताल प्रशासन को जिम्मेदार ठहरा रहे थे।वेल्फेयर अस्पताल के बाहर अफरातफरी दिखी जहां अधिकारी मृतकों के व्यथित रिश्तेदारों को शांत करने की कोशिश करते दिखाई दिए।

PunjabKesari

अस्पताल के भीतर, दृश्य और अधिक भयावह थे जहां हादसे की दिल दहला देने वाली तस्वीरों में कुछ मरीजों के शव स्ट्रेचरों और बिस्तरों पर जले हुए नजर आए। राज्य की राजधानी अहमदाबाद से करीब 190 किलोमीटर दूर स्थित अस्पताल में आग लगने के बाद कोविड-19 के कम से कम 18 मरीजों की मौत हो गई।

PunjabKesari

एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि आग इतनी भीषण थी कि आईसीयू वार्ड जलकर खाक हो गया। वेंटिलेटर और दवाएं रखने के लिए फ्रिज के साथ ही बिस्तरों सहित अंदर रखे सभी उपकरण पूरी तरह जल गए। कुछ मरीजों के शव इतनी बुरी तरह जल गए कि उनकी पहचान मुश्किल हो गई।

PunjabKesari

अस्पताल परिसर में एंबुलेंस और दमकल की गाड़ियों के सायरन सुनाई पड़ रहे थे जो वहां आग बुझाने के लिए साथ ही आग में सुरक्षित बचे मरीजों को दूसरे अस्पतालों में भेजने का काम कर रही थीं। लोगों को अस्पताल के भीतर अपने प्रियजनों के सुरक्षित होने की खबर जानने की अथक कोशिश करते देखा गया।

PunjabKesari

राहत कार्यों में लगी टीमों के साथ ही कई स्थानीय लोगों को मरीजों को बाहर निकालते और एंबुलेंस वाहनों में पहुंचाते हुए देखा गया ताकि उन्हें पास के अस्पतालों में भर्ती कराया जा सके। कई मरीजों को व्हीलचेयर पर या कपड़ों की मदद से बनाए गए स्ट्रेचरों पर लादकर निकाला गया।

जिला पुलिस के भी कई वाहन मौके पर पहुंचे ताकि कानून-व्यवस्था बनी रहे। सिविल अस्पताल भेजे गए एक मरीज की रिश्तेदार आग के मलबे में उसकी फाइल ढूंढ़ती नजर आई। उन्होंने कहा कि वह फाइल इसलिए ढूंढ़ रही हैं ताकि जिस अस्पताल में मरीज को ले जाया गया है, वह तत्काल उसका इलाज शुरू कर सके।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Recommended News

static