देश के युवाओं से पीएम मोदी का संवाद, बोले- स्वामी विवेकानंद जी ने देश को अनमोल उपहार दिया

2021-01-12T12:51:08.357

नेशनल डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से युवाओं से संवाद कर रहे हैं। उन्होंने राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव के समापन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद की जन्म जयंती का ये दिन हम सभी को नई प्रेरणा देता है। स्वामी विवेकानंद ने भारत को उसकी ताकत का एहसास कराया है। पीएम मोदी के संबोधन की मुख्यें बातें कुछ इस प्रकार है:-

PunjabKesari

स्वामी के विचारों ने उर्जा दी

  • आज का ये दिन विशेष इसलिए भी हो गया है कि इस बार युवा संसद देश की संसद के सेंट्रल हॉल में हो रही है।
  • ये सेंट्रल हॉल हमारे संविधान के निर्माण का गवाह है।
  • आजादी की लड़ाई में स्वामी के विचारों ने उर्जा दी।
  • स्वामी विवेकानंद ने एक और अनमोल उपहार दिया है।
  • ये उपहार है, व्यक्तियों के निर्माण का, संस्थाओं के निर्माण का। इसकी चर्चा बहुत कम ही हो पाती है।

PunjabKesari

नास्तिक वो है जो खुद में भरोसा नहीं करता: पीएम मोदी

  • लोग स्वामी जी के प्रभाव में आते हैं, संस्थानों का निर्माण करते हैं, फिर उन संस्थानों से ऐसे लोग निकलते हैं जो स्वामी जी के दिखाए मार्ग पर चलते हुए नए लोगों को जोड़ते चलते हैं।
  • स्वामी जी कहते थे, पुराने धर्मों के मुताबिक नास्तिक वो है जो ईश्वर में भरोसा नहीं करता। लेकिन नया धर्म कहता है, नास्तिक वो है जो खुद में भरोसा नहीं करता।
  • ये स्वामी जी ही थे, जिन्होंने उस दौर में कहा था कि निडर, बेबाक, साफ दिल वाले, साहसी और आकांक्षी युवा ही वो नींव है जिस पर राष्ट्र के भविष्य का निर्माण होता है। वो युवाओं पर, युवा शक्ति पर इतना विश्वास करते थे।
  • हमारा युवा खुलकर अपनी प्रतिभा और अपने सपनों के अनुसार खुद को विकसित कर सके इसके लिए आज एक environment और इकोसिस्टम तैयार किया जा रहा है।
  • शिक्षा व्यवस्था हो, सामाजिक व्यवस्था हो या कानूनी बारीकियां, हर चीज में इन बातों को केंद्र में रखा जा रहा है।

 

कई दिग्गज रहे मौजूद
इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और केन्‍द्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्री किरन रिजिजु भी उपस्थित रहे। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने बताया कि एनवाईपीएफ की अवधारणा प्रधानमंत्री के 31 दिसंबर, 2017 को अपने मन की बात के संबोधन में व्‍यक्‍त किए गए विचार पर आधारित है। इस विचार से प्रेरणा लेते हुए, पहला महोत्सव ''भारत की नई आवाज बनें और समाधान खोजें एवं नीति के लिए योगदान दें'' विषय के साथ 12 जनवरी से 27 फरवरी 2019 तक आयोजित किया गया था।

 

PunjabKesari

12 जनवरी को मनाया जाता है राष्ट्रीय युवा दिवस 
पीएमओ के मुताबिक, दूसरा एनवाईपीएफ ऑनलाइन माध्‍यम से 23 दिसंबर, 2020 को आयोजित किया गया था और पहले चरण में देश भर के 2.34 लाख युवाओं ने भाग लिया। इसके बाद 1 से 5 जनवरी, 2021 तक वर्चुअल माध्यम से राज्य युवा संसदों द्वारा इसका अनुसरण किया गया। दूसरे एनवाईपीएफ का समापन कार्यक्रम 11 जनवरी, 2021 को संसद के सेंट्रल हॉल में आयोजित किया जाएगा। पीएमओ के मुताबिक, राष्ट्रीय युवा महोत्सव का आयोजन हर वर्ष 12 से 16 जनवरी को किया जाता है। 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती है, जिसे राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष राष्ट्रीय युवा महोत्सव के साथ-साथ एनवाईपीएफ का भी आयोजन किया जा रहा है। 


Content Writer

vasudha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News