मुस्लिम MLA के मंदिर जाने पर मचा बवाल, हिंदू संगठनों ने गंगा जल से धोकर किया शुद्ध

punjabkesari.in Tuesday, Nov 28, 2023 - 04:23 PM (IST)

नेशनल डेस्क: उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले में एक मंदिर में समाजवादी पार्टी (सपा) की एक मुस्लिम महिला विधायक के दौरे के बाद उसे 'गंगाजल से शुद्ध' किये जाने का मामला सामने आया है। सिद्धार्थनगर जिले की डुमरियागंज विधानसभा सीट से सपा विधायक सैय्यदा खातून रविवार को आयोजित 'शतचंडी महायज्ञ' में भाग लेने के लिए स्थानीय लोगों के निमंत्रण पर 'समय माता मंदिर' गईं थीं। खातून के लौटने के बाद, नगर पंचायत बढ़नी चाफ़ा स्थित मंदिर में उनके जाने के विरोधी कुछ लोगों ने मंत्रोच्चार के बीच, मंदिर को गंगाजल से शुद्ध किया।

'खातून एक मुस्लिम हैं, गाय का मांस खाती'
शुद्धिकरण का नेतृत्व करने वाले, बढ़नी चाफा के नगर पंचायत अध्यक्ष धर्मराज वर्मा ने कहा कि कुछ अधर्मी लोगों ने मुस्लिम समुदाय की स्थानीय विधायक सईदा खातून को फोन किया था। उन्होंने कहा, ''चूँकि सैय्यदा खातून एक मुस्लिम हैं और गाय का मांस खाती हैं, इसलिए यह पवित्र स्थान उनके आने से अपवित्र हो गया।'' उन्होंने कहा कि उन्होंने कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर मंदिर परिसर को शुद्ध किया। वर्मा ने कहा कि शुद्धिकरण के बाद अब यह स्थान पूरी तरह से पवित्र और पूजा-पाठ के लिए उपयुक्त हो गया है।

जहां आमंत्रित किया जाएगा वहां जाऊंगी- खातून
संपर्क करने पर विधायक सैय्यदा खातून ने लखनऊ से फोन पर बताया कि एक जन प्रतिनिधि होने के नाते वह, निमंत्रण मिलने पर सभी धर्मों और सम्प्रदायों से संबंधित स्थानों का दौरा जारी रखेंगी और ऐसे किसी भी कृत्य से उन्हें रोका नहीं जा सकता। खातून ने कहा "क्षेत्र के कई ब्राह्मण और संत मेरे साथ जुड़े हुए हैं और उन्होंने मुझे लगभग दस दिन पहले 'समय माता मंदिर' में आमंत्रित किया था। मैं सभी धर्मों का सम्मान करती हूं, मैं क्षेत्र के सभी लोगों की विधायक हूं और जहां भी आमंत्रित किया जाएगा वहां जाऊंगी।"

खातून ने कहा कि उन्होंने क्षेत्र में विभिन्न मंदिरों का नवीनीकरण कार्य भी करवाया है। अपने दौरे के विरोध पर उन्होंने कहा कि नगर पंचायत अध्यक्ष वर्मा भाजपा और हिंदू युवा वाहिनी से जुड़े हैं। उन्होंने कहा ‘‘मैं ऐसे लोगों से डरने वाली नहीं हूं। लोगों ने भी इस मुद्दे पर मेरा समर्थन किया है और बयान दिये हैं।''

मंदिर के पुजारी का बयान 
मंदिर के पुजारी श्रीकृष्ण दत्त शुक्ला ने कहा कि विधायक को महायज्ञ के लिए आमंत्रित किया गया था और वह शाम को वहां आई थीं। विधायक कुछ देर वहां रुकीं, समाज में सौहार्द की बात की और चली गयीं। अगली सुबह वर्मा और उनके दल ने वहां पहुंच कर सवाल किया कि विधायक को क्यों बुलाया गया था और उनकी उपस्थिति के कारण मंदिर अपवित्र हो गया है। शुक्ला ने बताया कि इसके बाद उन्होंने गंगाजल छिड़का और सफाई की। समय माता मंदिर राप्ती नदी के तट पर सिद्धार्थनगर जिले में स्थित हिंदुओं का एक पूजनीय धार्मिक स्थल है। पड़ोसी देश नेपाल और निकटवर्ती जिलों से श्रद्धालु गहरी आस्था और भक्ति के साथ इस मंदिर में आते हैं। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Recommended News

Related News