हवाला के जरिये भेजा जाता था पैसा

punjabkesari.in Saturday, Aug 13, 2022 - 09:03 PM (IST)

चंडीगढ़ , 13 अगस्त -(अर्चना सेठी ) माह जून व जुलाई में हरियाणा , पंजाब व दिल्ली के विधायकों को धमकी दी गई थी जिसके सम्बन्ध में अलग- अलग मुकदमें दर्ज हुए थे। जो हरियाणा के श्री सुरेन्द्र पंवार विधायक सोनीपत, श्रीमती रेनु बाला विधायक सढोरा, श्री सुभाष गांगोली विधायक सफीदों, श्री संजय सिंह विधायक सोहना तथा पंजाब व दिल्ली के पूर्व विधायकों को जान से मारने की धमकी देकर फिरोती मांगी गई थी। इस सम्बन्ध में आरोपियान अमित यादव उर्फ राधेश्याम कुमार यादव, सद्दीक अनवर, सनोज कुमार, कैश आलम, दुलेश आलम, बदरे आलम व अबुलेश आलम को गिरफ़्तार किया गया तथा आरोपियों से काफी मात्रा में चैक बुक, पासबुक, ए.टी.एम. कार्ड , मोबाईल सिम, मोबाईल फोन व नकद रुपये बरामद किए गए ।

आरोपियों के फोनों में कुल 18 वर्चुअल नम्बर जो विदेशों से ओपरेट होने पाये गये हैं ।  गिरफ्तार आरोपियों के साथी आरोपी मिड्डल ईस्ट में ईकबाल कैश आलम व सदिक तथा साउदी अरब में राकेश तथा पाकिस्तान में अली, नजीर, वसीम, शब्बीर, इमरान, MD खान व रफ़ीक  हैं।  इन सभी ने आपस में मिलकर योजनाबद्ध तरीक़े से गणमान्य लोगों के मोबाइल नंबर व अन्य सम्बंधित डाटा इंटरनेट व अन्य तरीको  से लेकर चालाकी से स्थानीय गैंगस्टर  के नाम से व्हाट्सप्प के जरिये कॉल और चैट से धमकी दे कर पैसे ऐंठने का प्रयास किया गया। अबुलेश  आलम पुत्र बब्लु आलम वासी गांव दमावरा थाना साठी जिला बेतिया बिहार पहले KBC, ZERO INTEREST LOAN व OTP FRAUD (ठगी) के जरिये आनलाईन ठगी का काम करता था। जो जून 2021 मे पोक्सो व रेप के मुकदमे में बेतिया (बिहार) जेल चला गया था। इस अबुलेश आलम ने अमित उर्फ राधेश्याम व अपने छोटे भाई दुलेश आलम को ठगी का यह काम सीखा कर विदेश मे बैठे अपने भाई कैश आलम व पाकिस्तान व  मिड्डल ईस्ट देशो मे बैठे ईकबाल कैश आलम ,सदिक , राकेश, अली, नजीर, वसीम, शब्बीर, इमरान, MD खान वा रफ़ीक के साथ सम्पर्क करवा दिया। जो गिरफ्तार शुदा आरोपी कैश आलम पहले करीब तीन साल दुबई में रह चुका है। प्राप्त मोबाइल डॉटा वा पूछताछ से आरोपीयान के विदेश में बैठे आरोपी साथी इकबाल , वसीम, अली, नाजीर के साथ व्हाटस अप चैट अनुसार पिछले 8 महीने में कुल 727 बैंक खातो में 867 ट्रांजेक्शन्स के जरिये करीब 2,77,03750/- रुपये का लेन देन पाया गया है। यह सभी बैंक खाते पाकिस्तान व मिड्डल ईस्ट देशो मे बैठे ईकबाल कैश आलम, सदिक, राकेश, अली, नजीर, वसीम, शब्बीर, इमरान, MD खान वा रफ़ीक  आपरेट करवाते थे।

आरोपियान के मोबाईल फोनो से प्राप्त सभी 727 बैंक खातो को सीज कराया गया है। जांच में सामने आया कि सीज किये गये 727 बैंक खाते उन व्यक्तियो के पाये गये है जिनके परिवार से कोई ना कोई सदस्य मिड्डल ईस्ट के देशो मे नौकरी करते है। इन्ही व्यक्तियो व इनके परिजनो के बैंक खातो का प्रयोग करके ठगी द्वारा प्राप्त किया गया धन हवाला के जरिये पाकिस्तान मे भेजा जाता है। इस बात से भी इन्कार नही किया जा सकता कि प्रयोग किये गये कुछ खाताधारक भी इस गैंग के द्वारा ठगी का शिकार (पीडित) भी हो सकते है। जांच जारी है। माह जून व जुलाई में हरियाणा , पंजाब व दिल्ली के विधायकों को धमकी दी गई थी जिसके सम्बन्ध में अलग- अलग मुकदमें दर्ज हुए थे। जो हरियाणा के श्री सुरेन्द्र पंवार विधायक सोनीपत, श्रीमती रेनु बाला विधायक सढोरा, श्री सुभाष गांगोली विधायक सफीदों, श्री संजय सिंह विधायक सोहना तथा पंजाब व दिल्ली के पूर्व विधायकों को जान से मारने की धमकी देकर फिरोती मांगी गई थी। इस सम्बन्ध में आरोपियान अमित यादव उर्फ राधेश्याम कुमार यादव, सद्दीक अनवर, सनोज कुमार, कैश आलम, दुलेश आलम, बदरे आलम व अबुलेश आलम को गिरफ़्तार किया गया तथा आरोपियों से काफी मात्रा में चैक बुक, पासबुक, ए.टी.एम. कार्ड , मोबाईल सिम, मोबाईल फोन व नकद रुपये बरामद किए गए । आरोपियों के फोनों में कुल 18 वर्चुअल नम्बर जो विदेशों से ओपरेट होने पाये गये हैं ।

 गिरफ्तार आरोपियों के साथी आरोपी मिड्डल ईस्ट में ईकबाल कैश आलम व सदिक तथा साउदी अरब में राकेश तथा पाकिस्तान में अली, नजीर, वसीम, शब्बीर, इमरान, MD खान व रफ़ीक  हैं।  इन सभी ने आपस में मिलकर योजनाबद्ध तरीक़े से गणमान्य लोगों के मोबाइल नंबर व अन्य सम्बंधित डाटा इंटरनेट व अन्य तरीको  से लेकर चालाकी से स्थानीय गैंगस्टर  के नाम से व्हाट्सप्प के जरिये कॉल और चैट से धमकी दे कर पैसे ऐंठने का प्रयास किया गया। अबुलेश  आलम पुत्र बब्लु आलम वासी गांव दमावरा थाना साठी जिला बेतिया बिहार पहले KBC, ZERO INTEREST LOAN व OTP FRAUD (ठगी) के जरिये आनलाईन ठगी का काम करता था। जो जून 2021 मे पोक्सो व रेप के मुकदमे में बेतिया (बिहार) जेल चला गया था। इस अबुलेश आलम ने अमित उर्फ राधेश्याम व अपने छोटे भाई दुलेश आलम को ठगी का यह काम सीखा कर विदेश मे बैठे अपने भाई कैश आलम व पाकिस्तान व  मिड्डल ईस्ट देशो मे बैठे ईकबाल कैश आलम ,सदिक , राकेश, अली, नजीर, वसीम, शब्बीर, इमरान, MD खान वा रफ़ीक के साथ सम्पर्क करवा दिया। जो गिरफ्तार शुदा आरोपी कैश आलम पहले करीब तीन साल दुबई में रह चुका है। प्राप्त मोबाइल डॉटा वा पूछताछ से आरोपीयान के विदेश में बैठे आरोपी साथी इकबाल , वसीम, अली, नाजीर के साथ व्हाटस अप चैट अनुसार पिछले 8 महीने में कुल 727 बैंक खातो में 867 ट्रांजेक्शन्स के जरिये करीब 2,77,03750/- रुपये का लेन देन पाया गया है। यह सभी बैंक खाते पाकिस्तान व मिड्डल ईस्ट देशो मे बैठे ईकबाल कैश आलम, सदिक, राकेश, अली, नजीर, वसीम, शब्बीर, इमरान, MD खान वा रफ़ीक  आपरेट करवाते थे। आरोपियान के मोबाईल फोनो से प्राप्त सभी 727 बैंक खातो को सीज कराया गया है। जांच में सामने आया कि सीज किये गये 727 बैंक खाते उन व्यक्तियो के पाये गये है जिनके परिवार से कोई ना कोई सदस्य मिड्डल ईस्ट के देशो मे नौकरी करते है। इन्ही व्यक्तियो व इनके परिजनो के बैंक खातो का प्रयोग करके ठगी द्वारा प्राप्त किया गया धन हवाला के जरिये पाकिस्तान मे भेजा जाता है। इस बात से भी इन्कार नही किया जा सकता कि प्रयोग किये गये कुछ खाताधारक भी इस गैंग के द्वारा ठगी का शिकार (पीडित) भी हो सकते है। जांच जारी है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Archna Sethi

Related News

Recommended News