श्रीलंका में भारत के उच्चायुक्त ने की ''नॉर्दर्न प्रॉविंस'' की यात्रा

punjabkesari.in Sunday, Dec 03, 2023 - 12:01 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्क. श्रीलंका में भारत के उच्चायुक्त गोपाल बागले ने देश के 'नॉर्दर्न प्रॉविंस' की यात्रा की इस दौरान उन्होंने विकास के लिए सहयोग बढ़ाकर एवं विस्तारित आर्थिक साझेदारी के जरिए श्रीलंकाई लोगों के कल्याण को लेकर प्रतिबद्धता जताई। भारतीय उच्चायोग ने एक बयान में बताया कि गोपाल बागले ने श्रीलंका के नौ प्रांतों में शामिल नॉर्दर्न प्रॉविंस की 29 नवंबर से एक दिसंबर तक यात्रा की। इस दौरान उच्चायोग के अन्य वरिष्ठ राजनयिक भी उनके साथ थे। उच्चायुक्त ने 'हाइब्रिड नवीकरणीय ऊर्जा प्रणाली' परियोजना को लागू करने की तैयारियों का आकलन करने के लिए जाफना, नैनातिवु, अनालाइतिवु और डेल्फ्ट के तीन द्वीपों का दौरा किया। भारत सरकार इन द्वीपों के निवासियों की ऊर्जा संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अनुदान के जरिए इस परियोजना में मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है। 

PunjabKesari
बयान में आगे बताया गया कि इस यात्रा ने क्षेत्र के लोगों की प्राथमिकताओं और आवश्यकताओं के अनुसार विकास सहयोग बढ़ाकर और विस्तारित आर्थिक साझेदारी के माध्यम से नॉर्दर्न प्रॉविंस सहित पूरे श्रीलंका के लोगों के विकास और कल्याण को लेकर भारत की स्थायी प्रतिबद्धता को रेखांकित किया गया। उन्होंने भारत और श्रीलंका में पारस्परिक रूप से सहमत बिंदुओं के बीच नौका सेवाओं के माध्यम से संपर्क सुविधा बढ़ाने के लिए जारी प्रयासों के तहत थलाईमन्नार और कांकेसंथुराई यात्री प्रतिष्ठानों का दौरा किया। 

PunjabKesari
इसके अलावा बयान में कहा गया, ''प्रतिनिधिमंडल ने श्रीलंका के लोगों के लाभ के लिए भारत-श्रीलंका विकास सहयोग साझेदारी के तहत रेलवे बुनियादी ढांचे के विकास के महत्व को प्रमाणित करते हुए आधुनिक रेल डिब्बों में कोलंबो से मेदावाचिया तक की यात्रा की। इन डिब्बों की आपूर्ति भारत से मिले ऋण के तहत की गई है।'' 

PunjabKesari
उच्चायुक्त ने मुरुंकन महाविद्यालय में मन्नार जिले के छात्रों को 1,000 स्कूल बैग दान करने के कार्यक्रम का उद्घाटन किया। उन्होंने आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए जाफना विश्वविद्यालय में एक विशेष वित्तीय सहायता योजना भी शुरू की। इसके अलावा उन्होंने जाफना और डेल्फ्ट द्वीप समूह में 500 से अधिक परिवारों को सूखा राशन वितरित किया। जाफना क्षेत्र में 15 मछुआरा सहकारी समितियों को डीप फ्रीजर दान किए गए। उच्चायुक्त ने श्रीलंका में सर्वोच्च बलिदान देने वाले भारत के वीर सपूतों को जाफना स्थित भारतीय शांति रक्षा सेना (आईपीकेएफ) के स्मारक पर एक दिसंबर को श्रद्धांजलि दी। आईपीकेएफ का गठन 1987 के भारत-श्रीलंका समझौते के तहत किया गया था, जिसका उद्देश्य 'लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम' (एलटीटीई) जैसे समूहों और श्रीलंकाई सेना के बीच देश में गृह युद्ध को समाप्त करना था।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Parminder Kaur

Recommended News

Related News