हरियाणा ने केन्द्र सरकार को दी 107 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन, मंत्री विज ने किया ट्वीट

2021-04-22T00:10:56.647

चंडीगढ़: कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरे देश को अपने चपेट में लेने वाली महामारी की जंग में मेडिकल ऑक्सीजन की बहुत ज्यादा जरूरत देखी जा रही है। गंभीर हालत वाले मरीजों के लिए ऑक्सीजन उपलब्ध कराना सरकार के लिए  चुनौतीपूर्ण हो गया है। इसी बीच राहत भरा कार्य हरियाणा प्रदेश ने किया है। दरअसल, केन्द्र सरकार ने हरियाणा को मेडिकल आवंटन योजना के तहत ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए कहा, जिस पर हरियाणा के प्रदेश के तीन जगहों से भारी मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन उपलब्ध करवाई गई।

इस बारे में हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने ट्वीट करते हुए कहा, 'हरियाणा के लिए भारत के सरकार द्वारा जारी किए गए ऑक्सीजन आवंटन योजना जारी की गई, जिसके तहत हरियाणा ने 107 मीट्रिक टन ऑक्सीजन, जिसमें एयर लिक्विड पानीपत से 80 मीट्रिक टन, जिंदल स्टील लिमिटेड हिसार से 7 मीट्रिक टन और आईनॉक्स ब्रोतिवाला से 20 मीट्रिक टन जुटा कर केन्द्र को सौंपी है।'
 

 

गौरतलब है कि विज ने दिल्ली सरकार पर ऑक्सीजन लूटने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कल हमारा एक टैंकर फरीदाबाद अस्पतालों के लिए ऑक्सीजन लेकर जा रहा था, जिसे दिल्ली में सरकार द्वारा लूट लिया गया, जोकि बिल्कुल गलत है। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से अव्यवस्था का माहौल बनेगा। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि अब हमने आदेश जारी कर दिए हैं कि जो भी टैंकर ऑक्सीजन लेकर जाएगा, वह पुलिस एस्कॉर्ट के साथ जाएगा। ताकि ऐसी घटना दोबारा ना हो, लेकिन इस प्रकार धक्के से टैंकर से गैस निकाल लेना बहुत निंदनीय बात है।

इसका साथ उन्होंने कहा कि हरियाणा में फिलहाल पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मौजूद है। प्रदेश में 270 मीट्रिक टन ऑक्सीजन बनती है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में हिमाचल के बद्दी और राजस्थान के भिवाड़ी प्लांटों से ऑक्सीजन आ रही थी, जिसे अब दोनों राज्य सरकारों ने बंद कर दिया है। हरियाणा सरकार ने अपने प्लांटो पर अधिकारियों की तैनाती कर दी है। विज ने कहा कि हमारे ऊपर दिल्ली को ऑक्सीजन देने का भी दबाव बनाया जा रहा है, मगर पहले हम अपनी सप्लाई पूरी करेंगे। उसके बाद दिल्ली को ऑक्सीजन देंगे।

 

 


Content Writer

Shivam

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static