बंगाल: मतदान के बीच टीएमसी नेता के घर मिली EVM, चुनाव आयोग ने सेक्टर अधिकारी किया सस्पेंड

2021-04-06T10:10:56.027

नेशनल डेस्क: मतदान के बीच पश्चिम बंगाल  में हंगामा तो जैसे आम बात ही हो गई हो। विधानसभा चुनाव के लिए तीसरे चरण के मतदान शुरु होते ही  भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के बीच आरोप प्रत्यारोप भी  शुरु हो गए। बीजेपी नेता ने आरोप लगाया कि  मतदान से पहले की रात टीएमसी नेता गौतम घोष के घर से ईवीएम और वीवीपैट की मशीनें मिली हैं। चुनाव आयोग ने इस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए सेक्टर अधिकारी को निलंबित कर दिया है।

PunjabKesari

चुनाव प्रक्रिया से हटा दी गई ईवीएम
चुनाव आयोग ने बताया कि (Sector 17, AC 177) के चुनाव अधिकारी तपन सरकार को निलंबित कर दिया गया है। आयोग ने बताया कि वहां मिली ईवीएम आरक्षित थी, जिसे चुनाव प्रक्रिया से हटा दिया गया है।  चुनाव आयोग का कहना है कि सेक्टर ऑफिसर तपन सरकार ईवीएम के साथ अपने रिश्तेदार के घर सोने गए थे, जो नियमों का उल्लंघन है। इसमें शामिल सभी लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

PunjabKesari

सेक्टर ऑफिसर ने दी सफाई
वहीं सेक्टर ऑफिसर ने अपने बचाव में कहा कि चुनावी ड्यूटी के लिए मशीनों को लाते समय काफी रात हो गई थी। केंद्रीय सशस्त्र बल सो गए थे और उन्होंने बूथ खोला ही नहीं। लिहाजा उन्होंने अपने एक रिश्तेदार के घर पर रात बिताना उचित समझा। वहीं इस सब के अलावा टीएमसी ने भाजपा पर  पोलिंग बूथ पर वोटरों को परेशान करने का आरोप लगाया है।

PunjabKesari
पश्चिम बंगाल में 31 सीटों के लिए जारी
बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तीसरे चरण के तहत 31 सीटों के लिए मतदान मंगलवार को कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह सात बजे शुरू हो गया।  चुनाव आयोग ने सभी विधानसभा क्षेत्रों को ‘संवेदनशील' घोषित करते हुए सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की है। शांतिपूर्ण मतदान के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है और केंद्रीय बलों की 618 कंपनियों को 10,871 मतदान केंद्रों की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है। महत्वपूर्ण स्थानों पर केंद्रीय बलों की मदद के लिए राज्य पुलिस बल को भी तैनात किया गया है। पश्चिम बंगाल में 294 विधानसभा सीटों के लिए आठ चरणों में मतदान हो रहा है। मतों की गणना दो मई को होगी।

 


Content Writer

vasudha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static