गांजे के धुएं में मस्त देश की राजधानी, न्यूयॉर्क और कराची के बाद तीसरे नंबर पर दिल्ली

9/10/2019 12:43:21 PM

नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली एक बार फिर सुर्खियों में हैं और चर्चा किसी कामयाबी को लेकर नहीं बल्कि गांजे को लेकर है। आपको जानकार हैरानी होगी कि गांजे के इस्तेमाल में दिल्ली तीसरे स्थान पर है। हाल ही में गांजे पर आई एक वैश्विक रिपोर्ट में भारत का नाम भी है। इस रिपोर्ट में टॉप 10 शहरों की लिस्ट में भारत के भी दो शहरों के नाम हैं। गांजे पर आई वैश्विक रिपोर्ट में तीसरे नंबर पर दिल्ली और छठे नंबर पर मुंबई है। जर्मनी की कंपनी ABCD ने गांजे पर वैश्विक रिपोर्ट जारी की है। कंपनी ने इस रिपोर्ट को कई भागों में बांटा है। रिपोर्ट में दुनिया में सबसे ज्यादा गांजे की खपत करने वाले शहरों की लिस्ट में अमेरिका का न्यूयॉर्क नंबर एक, दूसरे पर पाकिस्तान का कराची और तीसरे नंबर पर भारत का दिल्ली है। कंपनी ने रिपोर्ट तैयार करने के लिए 2018 का डाटा भी इस्तेमाल किया है।

PunjabKesari

रिपोर्ट के हिसाब से शहर

  • 1. न्यूयॉर्क:          77.44 मीट्रिक टन
  • 2. कराची:           41.95 मीट्रिक टन
  • 3. नई दिल्ली:     38.26 मीट्रिक टन
  • 4. लॉस एंजेलिस: 36.06 मीट्रिक टन
  • 5. कायरो:          32.59 मीट्रिक टन
  • 6. मुंबई:            32.38 मीट्रिक टन
  • 7. लंदनः           31.1 मीट्रिक टन
  • 8. शिकागोः       24.54 मीट्रिक टन
  • 9. मास्कोः        22.87 मीट्रिक टन
  • 10. टोरंटोः        22.75 मीट्रिक टन
    PunjabKesari

लिस्ट के मुताबिक दुनिया में सिंगापुर में ही सबसे कम गांजे की खपत हुई है, यहां मात्र 0.02 मीट्रिक टन गांजे की खपत हुई। रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि दुनिया के किस शहर में कहां सस्ता गांजा मिलता है। दिल्ली इस मामले में 10वें नंबर पर है। उल्लेखनीय है कि भारत में कई बार गांजे को लीगल करने की मांग की गई है लेकिन इश पर अभी कोई पहल नहीं की गई।

PunjabKesari

साल 2018 में कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी एक लेख लिखकर गांजे को लीगल करने की मांग की थी। उनका कहना था कि इससे भारत को काफी फायदा हो सकता है। बता दें कि देश में कई बार अवैध रूप से हजारों टनों की संख्या में गांजा पकड़ा जाता है और जिससे यह बरामद होता है उस पर कड़ी कार्रवाई भी की जाती है।

PunjabKesari


Seema Sharma

Related News