See More

भारत में बढ़ा कोरोना मरीजों का आंकड़ा, संक्रमितों की संख्या 1300 के पार...38 की मौत

2020-03-31T08:05:47.65

नई दिल्ली: देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस ‘कोविड-19' के 200 से ऊपर नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1311 हो गई हैं और 11 मरीजों की मौत हो जाने से इस वायरस की चपेट में आकर मरने वालों का आंकड़ा 38 तक पहुंच गया है। कोरोना वायरस संक्रमण के कल 106 नए मामले सामने आए थे और छह मरीजों की मौत हुई थी जिससे लगता है कि लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंशिंग का कड़ाई से पालन कराने के कुछ सकारात्मक नतीजे सामने आए हैं। अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित 99 मरीज पूरी तरह ठीक हो चुके हैं।
PunjabKesari
स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता लव अग्रवाल ने सोमवार को यहां संवाददाताओं को बताया कि जिन चार मरीजों की मौत हुई है, उनकी उम्र ज्यादा थी और उनका कोरोना वायरस के मरीज से संपर्क का इतिहास भी था। उन्होंने बताया कि इस समय देश में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए सरकार का ध्यान कोरोना वायरस से अधिक संक्रमण वाले क्षेत्रों पर है और सभी राज्यों के साथ मिलकर कम्युनिटी सर्विलांस, अत्यधिक संपर्क ट्रेसिंग जैसे प्रयासों पर हैं और लॉकडाउन तथा सोशल डिस्टेन्सिंग के पालन पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है।
PunjabKesari
उन्होंने कहा कि अगर यूरोप और अन्य विकसित देशों की बात की जाए तो हम उनके मुकाबले बेहतर स्थिति में है और हमें 100वें मामले से एक हजार की संख्या में आने में 12 दिन का समय लगा है जबकि इतनी अवधि में उनके यहां तीन से आठ हजार के बीच मामले सामने आ गए थे। हमारे देश में सामाजिक दूरी और लॉकडाउन का सख्ती से इस्तेमाल होने के कारण नये संक्रामक मामलों में थोड़ा सुधार देखा जा सकता है लेकिन इसके लिए जनता को अलटर् रहना होगा क्योंकि एक व्यक्ति की लापरवाही भी अब तक की सारी मेहनत को बेकार कर सकती है।
PunjabKesari
इसके अलावा हमें यह भी समझना होगा कि हम एक ऐसी संक्रामक बीमारी का सामना कर रहे हैं जिसकी फैलने की दर बहुत अधिक है और एक छोटी असावधानी भी काफी भारी पड़ सकती है। श्री अग्रवाल ने बताया कि सरकार देश में आवश्यक वस्तुओं को आपूर्ति और लॉक डाउन के पूरे पालन को सुनिश्चित करने पर भी ध्यान दे रही हैं। उन्होंने बताया कि देश में मास्क, वेंटीलेटर और अन्य सामग्री व्यापक स्तर पर बनाने का काम शुरू हो चुका हैं और शनिवार को बाहर से ऐसे सामान की एक बड़ी खेप भारत आई हैं और केंद्र सरकार लगातार स्थिति पर नज़र रखे हुए है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 10 सशक्तीकरण समूह बनाये हैं जिनमें सचिव स्तर के सभी अधिकारियों को सम्मिलित किया गया हैं।
PunjabKesari
ये सभी देश के विभिन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आइसोलेशन बेड क्वारंटीन, मेडिकल सप्लाई सुनिश्चित करने, मानव संसाधन को अपग्रेड करने जैसे विषयों पर निगरानी रख रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति अभी स्थानीय स्तर है और सामुदायिक स्तर पर संक्रमण नहीं फैला है। लोगों को दहशत में आने के बजाय सावधानी बरतनी है क्योंकि इसके 80 प्रतिशत मरीज ही ठीक हो जाते हैं और 20 प्रतिशत मरीज जिनमें पहले से ही दिल,गुर्दे, मधुमेह, उच्च रक्त चाप आदि गंभीर बीमारियां होती हैं, उनके इलाज में अस्पताल में अतिरिक्त सावधानी बरती जाती है।

 


Yaspal

Related News