कोयला घोटाला: अभिषेक के घर से निकली CBI की टीम, रुजिरा से करीब 2 घंटे तक की पूछताछ

2021-02-23T13:54:09.22

नेशनल डेस्क:   सीबीआई की टीम तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी के दक्षिण कोलकाता स्थित आवास से निकल चुकी है। टीम ने करीब दो घंटे तक अभिषेक की पत्नी रुजिरा बनर्जी से कथित कोयला चोरी मामले में पूछताछ की। सीबीआई की टीम के वहां पहुंचने से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने भतीजे से मुलाकात करने पहुंची थी। ममता यहां केवल 10 मिनट ही रुकी थीं। 


रुजिरा ने सीबीआई टीम को बुलाया था घर
दरअसल रुजिरा बनर्जी ने सोमवार को सीबीआई के समन का जवाब देते हुए कहा कि कथित कोयला चोरी घोटाले में पूछताछ के लिए केन्द्रीय एजेंसी अपना एक दल मंगलवार को उनके घर पर भेजे। सीबीआई ने रविवार को जांच में शामिल होने के लिए रुजिरा को समन भेजा था। सीबीआई की एक टीम पूछताछ के लिए सोमवार को तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी की बहन मेनका गंभीर के कोलकाता स्थित आवास पहुंची। अभिषेक टीएमसी की युवा इकाई के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे हैं।

PunjabKesari
कल  अभिषेक की साली से हुई थी पूछताछ 
रुजिरा ने सीबीआई को लिखे एक पत्र में कहा था कि मैं इस कारण से अनभिज्ञ हूं कि मुझे पूछताछ के लिए क्यों बुलाया जा रहा है या जांच का विषय क्या है, आप अपनी सुविधानुसार कल 23 फरवरी 2021 को पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न दोपहर तीन बजे के बीच मेरे आवास पर आ सकते हैं। उन्होंने कहा,‘‘ आप कब आएंगे कृपया इसकी जानकारी मुझे दे दें। उधर, सीबीआई की दो महिला अधिकारी पूछताछ के लिए सोमवार को रूजिरा की बहन मेनका गंभीर के कोलकाता स्थित आवास पहुंची और उनसे करीब तीन घंटे तक पूछताछ की। 

PunjabKesari

विधानसभा चुनाव से पहले बंगाल में गरमाई सियासत 
बता दें कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों से पहले तृणमूल कांग्रेस के नेता के रिश्तेदारों से एजेंसी पूछताछ कर रही है। राज्य में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। केंद्रीय जांच एजेंसी ने गत नवंबर में चोरी रैकेट के कथित सरगना मांझी उर्फ लाला, ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड (ईसीएल) के महाप्रबंधकों-अमित कुमार धर (तत्कालीन कुनुस्तोरिया क्षेत्र और अब पांडवेश्वर क्षेत्र) तथा जयेश चंद्र राय (काजोर क्षेत्र) , ईसीएल के सुरक्षा प्रमुख तन्मय दास, क्षेत्र सुरक्षा निरीक्षक, कुनुस्तोरिया, धनंजय राय और एसएसआई एवं काजोर क्षेत्र के सुरक्षा प्रभारी देबाशीष मुखर्जी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। आरोप है कि मांझी उर्फ लाला कुनुस्तोरिया और काजोर क्षेत्रों में ईसीएल की पट्टे पर दी गईं खदानों से कोयले के अवैध खनन और चोरी में लिप्त हैं। 

PunjabKesari


Content Writer

vasudha

Recommended News