G7 Summit में बाइडेन ने चीन से निपटने के लिए किया 600 अरब डॉलर जुटाने का ऐलान

punjabkesari.in Tuesday, Jun 28, 2022 - 05:52 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः जर्मनी में हो रही G7 देशों के शिखर सम्मेलन में दूसरे दिन यूक्रेन-रूस युद्ध के अलावा विकासशील देशों के बीच ढांचागत परियोजनाओं का विकास, खाद्य सुरक्षा और आतंकवाद समेत विभिन्न महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर चर्चा हुई। इस दौरान G7 नेताओं ने विकासशील देशों में ढांचागत परियोजनाओं के विकास के लिए वित्त जुटाने पर भी चर्चा की । समिट में  चीन से निपटने व विकासशील देशों में ढांचागत परियोजनाओं के लिए साल 2027 तक 600 अरब डॉलर का वित्त जुटाने की घोषणा की गई। 

 

इस दौरन  बाइडेन ने भारत को लेकर कहा कि अमेरिकी अंतर्राष्ट्रीय विकास वित्त निगम (डीएफसी) उद्यम पूंजी कोष ओम्निवोर एग्रीटेक एंड क्लाइमेट सस्टेनेबिलिटी फंड-3 में तीन करोड़ डॉलर का निवेश करेगा। जिसका इस्तेमाल भारत में कृषि, खाद्य प्रणाली, जलवायु एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था से जुड़़े उद्यमों में निवेश के जिए किया जाएगा। G7 देशों की इस पहल को चीन को जबाव के रूप में देखा जा रहा है। दरअसल, चीन ने पहले ही ‘बेल्ट एवं रोड इनिशिएटिव’ (BRI) योजना के तहत कई देशों को ढांचागत परियोजनाओं के लिए भारी कर्ज दे रखा है। G7 देशों की इस योजना को चीन की इसी योजना के जवाब के रूप में देखा जा रहा है। चीन द्वारा BRI योजना के तहत विकासशील देशों को बंदरगाह, सड़क एवं पुल बनाने के लिए कर्ज दिया जाता है।

 

गौरतलब है कि शिखर सम्मेलन में रविवार को ‘वैश्विक अवसंरचना एवं निवेश भागीदारी’ (PDII) योजना का अनावरण किया गया था। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इसकी घोषणा की थी। उन्होंने कहा कि PDII सभी के लिए फायदेमंद साबित होगी। उन्होंने एक ट्वीट भी किया था। जिसमें उन्होंने कहा कि G7 के देश मिलकर 2027 तक करीब 600 अरब डॉलर जुटाएंगे जिसे विकासशील देशों में महत्वपूर्ण ढांचागत परियोजनाओं में लगाया जाएगा। ये परियोजनाएं लोगों की जिंदगी को बेहतर बनाएंगी और सही मायने में उनके लिए लाभदायक साबित होंगी। उन्होंने कहा कि इससे सभी देशों की अर्थव्यवस्था को मदद मिलेगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News