जैसलमेर पहुंचे अमित शाह, तनोट राय माता मंदिर में की पूजा-अर्चना

punjabkesari.in Saturday, Dec 04, 2021 - 07:26 PM (IST)

नेशनल डेस्कः केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज अपरान्ह राजस्थान के सीमावर्ती जैसलमेर पहुंचने के बाद सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के हेलिकॉप्टर के जरिये शाहगढ़ बल्ज क्षेत्र से लगती अन्तररष्ट्रीय सीमा पर रोहताश सीमा चौकी पर पहुंचे। शाह के साथ में केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत उनके साथ सीमा चौकी पर पहुंचे। बीएसएफ महानिदेशक पंकज कुमार सिंह, स्पेशल डी.जी. वेस्ट एन.एस. जामवाल एवं महानिरीक्षक बीएसएफ राजस्थान फ्रंटियर पंकज गूमर भी उनके साथ सीमा चौकी पर पहुंचे। रोहताश सीमा चौकी पहुंचने पर बीएसएफ के डीआईजी आनंद सिंह तख्सत एवं कमांडेन्ट 108 बीएसएफ सत्यानंद पाण्डे ने उनकी भावभीनी अगुवानी की तथा जवानों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर प्रस्तुत किया।  

शाह भारत पाक सीमा पर अन्तररष्ट्रीय सीमा के निकट तारबंदी पर पहुंचे, वहां पर बीएसएफ के महानिरीक्षक पंकज गूमर द्वारा उन्हें पूरे सीमा क्षेत्र के बारे में ब्रीफिंग देते हुये बीएसएफ के क्रियाकलापों, ऑपरेशनल ड्यूटी एवं पेट्रोलिंग आदि के बारे में जानकारी दी एवं रूबरू करवाया। शाह ने अन्तररष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ द्वारा की जा रही फुट पेट्रोलिंग, कैमल पेट्रोलिंग आदि को देखा एवं महिला जवानों के दस्ते की ड्यूटी के संबंध में बातचीत की।

शाह ने इसी दौरान एक उंचाई वाले रेतीले धोरों पर चढ़कर सूर्यास्त के द्दष्य का भी भव्य नजारा देखा। इसके बाद वह बीएसएफ जवानों, अधिकारियों के सैनिक सम्मेलन में पहुंचे वहां पर उन्होंने सैनिकों की हौसला अफजाई करते हुये उनकी इस दुर्गम इलाके में तैनाती के दौरान टफ ड्यूटी करने की सराहना की एवं उन्हें हर समय मुस्तैद एवं अलटर् रहने को कहा।

शाह ने अपने संबोधन में जवानों, अधिकारियों को वर्तमान स्थितियों व चुनौतीपूर्ण हालातों में मुस्तैद रहने एवं अलर्ट रहने को कहा। उन्होंने जवानों से कहा कि सरकार उनकी हर सुख सुविधा एवं उनके कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के लिये तत्पर है। उन्हें ड्यूटी के लिये उनकी जरूरत के हिसाब से हर संसाधन मुहैया करवाए जा रहे है। इसके बाद उन्होंने जवानों के साथ एक बड़े खाने में हिस्सा लिया तथा एक सांस्कृतिक संध्या में भी शिरकत की। रात्रि विश्राम उन्होंने जवानों के साथ सीमा चौकी पर ही किया ताकि जवान अपने को अकेला महसूस न कर सके।

इससे पूर्व शाह बीएसएफ के विमान से जैसलमेर के हवाई सैनिक अड्डे पहुंचने पर बीएसएफ के महानिदेशक पंकज कुमार सिंह, स्पेशल डी.जी. एन.एस. जामवाल, आई.जी. पंकज गूमर, जिला कलेक्टर आशीष मोदी एवं पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह सहित ने अन्य अधिकारियों ने अगुवानी की। इसके बाद वह बीएसएफ के हेलिकॉप्टर से सीमावर्ती तनोट क्षेत्र में पहुंचकर तनोट सीमा चौकी पर स्थित 1200 साल पुराने मातेश्वरी तनोट राय मंदिर में पूजा अर्चना की एवं माता मंदिर के इतिहास के बारे में जानकारी हासिल की। बीएसएफ के अधिकारी ने उन्हें बताया कि किस तरह माता के चमत्कारों ने 1965 एवं 1971 के युद्वों में पाकिस्तान को पीछे हटने के लिये मजबूर होना पड़ा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News