AIMIM भारतीय मुसलमानों के दिमाग में जहर घोलने की कोशिश कर रही है: राउत

2020-02-21T20:43:34.547

मुंबईः शिवसेना के नेता संजय राउत ने अखिल भारतीय मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) पर भारतीय मुसलमानों को बार-बार गुमराह करने और उनके दिमाग में जहर घोलने का शुक्रवार को आरोप लगाया। एआईएमआईएम नेता वारिस पठान ने कर्नाटक में एक रैली को संबोधित करते हुए कथित रूप से कहा था कि 15 करोड़ मुसलमान 100 करोड़ पर भारी पड़ सकते हैं। पठान के इसी बयान के मद्देनजर राउत का बयान आया है।

राउत ने दिल्ली में कहा, ‘‘आपको देश में मुसलमानों का नेता बनने का अधिकार किसने दिया है।'' उन्होंने कहा, ‘‘महाराष्ट्र में शिवसेना सत्ता में है और इसलिए वह संयम बरत रही है।'' राउत ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र में आपका कद क्या है? राज्य के मुसलमान एमवीए सरकार के साथ हैं। एआईएमआईएम भारतीय मुसलमानों को बार-बार गुमराह कर रही है और उनके दिमाग में जहर घोलने की कोशिश कर रही है। यदि इस तरह के बयान बार-बार दिए गए, तो शिवसेना भी उसी भाषा में जवाब देगी।''

राकांपा प्रवक्ता एवं महाराष्ट्र में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक ने भी पठान के बयानों की निंदा की। उन्होंने कहा, ‘‘हम पठान के विभाजनकारी एवं भड़काऊ बयानों की निंदा करते हैं। क्या साम्प्रदायिक बयान देने के लिए एआईएमआईएम और भाजपा ने मैच फिक्सिंग कर रखी है।''

पठान ने 16 फरवरी को उत्तरी कर्नाटक के कलबुर्गी में सीएए विरोधी रैली को संबोधित करते हुए कथित तौर पर ये बयान दिये थे। पठान को यह बोलते हुए सुना जा सकता है, ‘‘हमें साथ चलना होगा। हमें आजादी लेनी होगी। जो चीजें मांगने से नहीं मिलती, हमें छीननी होगी।'' वह कहते सुने जा सकते हैं, ‘‘अब वक्त आ गया है। हमें बोला कि मां-बहनों को आगे भेज दिया और खुद कंबल में बैठ गये। अभी तो सिर्फ शेरनियां बाहर निकली हैं और तुम्हारे पसीने छूट गये। समझ लो, हम लोग साथ आ गये तो क्या होगा।'' उन्होंने कहा, ‘‘(हम) 15 करोड़ हैं, लेकिन 100 करोड़ पर भारी हैं। यह बात याद रख लेना।'' पठान दिल्ली के शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं की आलोचनाओं की ओर इशारा कर रहे थे।


Yaspal

Related News