नए चीनी वायरस को लेकर टेंशन में अमेरिकी सीनेटर्स, कहा- ''चीन यात्रा पर लगे बैन, इंतजार पड़ सकता भारी ''

punjabkesari.in Saturday, Dec 02, 2023 - 01:18 PM (IST)

वाशिंगटनः चीन में  फैल रही रहस्यमयी बीमारी को लेकर कई देश परेशान व सतर्क  नजर आ रहे हैं। इसे लेकर अमेरिका में भी अलर्ट जार किया गया है। इस बीच अमेरिकी सीनेटर्स ने एक पत्र लिखक राष्ट्रपति जो बाइडेन से अमेरिका-चीन के बीच यात्रा प्रतिबंध लगाने की मांग की है। पांच रिपब्लिकन सीनेटर्स ने मार्को रुबियो के नेतृत्व में  शुक्रवार को  बाइडेन के प्रशासन को एक पत्र लिखकर आग्रह किया  कि जब तक एशियाई देश में तेजी से फैल रही सांस की बीमारी (चीनी निमोनिया) के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिल जाती, तब तक अमेरिका और चीन के बीच यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया जाए।

 

उन्होंने लिखा, " अमेरिका और चीन के बीच यात्रा को तुरंत प्रतिबंधित करना चाहिए, जब तक कि हम इस नई बीमारी से उत्पन्न खतरों के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिल जाती है।" सीनेटर रुबियो, जेडी वेंस, रिक स्कॉट, टॉमी ट्यूबरविले, और माइक ब्रौन ने चिट्ठी में लिखा," कोविड महामारी दौरान WHO ने चीनी अधिकारियों द्वारा महामारी से निपटने में सहयोग की कमी के बारे में बार-बार चिंता जाहिर की थी।  CCP के ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए अमेरिका को  WHO की कार्रवाई का इंतजार नहीं करना चाहिए और अमेरिकियों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाने चाहिए। 

 

उन्होंने कहा कि  ऐसे में जब तक चीन इस नई बीमारी के खतरों के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल न कर लें, तब तक  अमेरिका-चीन के बीच यात्रा पर प्रतिबंध लगाना चाहिए, ताकि आगे चलकर देश को अनगिनत मौतों और लॉकडाउन जैसी परिस्थिति का सामना न करना पड़ें।" उन्होंने कहा कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) का सार्वजनिक स्वास्थ्य संकटों के बारे में झूठ बोलने का एक पुराना इतिहास रहा है। कोविड-19 महामारी के दौरान, सीसीपी की सच्चाई को छुपाने और पारदर्शिता की कमी की वजह से अमेरिका को बीमारी के बारे में पता ही नहीं चल सका था।" 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Recommended News

Related News