संयुक्त राष्ट्र मिशन ने हैरात के मुख्‍य परिसर हमले को लेकर तालिबान से मांगा जवाब

2021-08-02T14:07:58.873

काबुलः संयुक्त राष्ट्र असिसटेंस मिशन इन अफगानिस्‍तान (UNAMA) ने तालिबान से हैरात प्रांत में अपने मुख्‍य परिसर पर हुए हमले पर जवाब मांगा है और साथ ही इस हमले की जांच कराने की भी मांग की है। इस हमले में एक अफगान पुलिसकर्मी की मौत हो गई थी जबकि अन्‍य घायल हो गए थे। संयुक्त राष्ट्र ने  इस हमले की कड़ी निंदा की है। UNAMA  के अनुसार 30 जुलाई को उनके परिसर पर रॉकेट हमला किया गया और अंधाधुंध फायरिंग भी की गई थी। ये सब उस समय हुआ जब अफगान सेना ने तालिबान के आतंकियों को हैरात प्रांत में मार गिराया था।

 

UNAMA ने एक ट्वीट में कहा है कि तालिबानियों ने उनके परिसर में तैनात गार्ड की हत्‍या कर दी। इसके लिए उसको जिम्‍मेदारी लेनी होगी।  इस हमले में यूएन का कोई भी कर्मी घायल नहीं हुआ था। अफगानिस्‍तान में यूएन की विशेष प्रतिनिधि डेबराह लियोंस का कहना है कि इस हमले की जितनी निंदा की जाए कम है। उन्‍होंने इस हमले में मारे गए अफगानी गार्ड के परिवार के प्रति अपनी संवेदना भी व्‍यक्‍त की है। साथ ही हमले में घायल सभी लोगों के जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की है।

 

 लियोंस ने इस बात भी जोर दिया है कि इस हमले के दोषियों की शिनाख्‍त की जानी चाहिए और इन्हें नियमानुसार सजा भी होनी चाहिए। उन्‍होंने कहा कि अंतर्राष्‍ट्रीय कानून के तहत यूएन कर्मचारियों और उसके परिसरों पर हमला पूरी तरह से वर्जित है। ऐसी घटनाओं को युद्धापराध की श्रेणी में रखा जा सकता है। गौरतलब है कि हैरात प्रांत में 28 जुलाई से ही अफगान और तालिबान आतंकियों के बीच जबरदस्‍त लड़ाई चल रही है।

 

तालिबान इसपर कब्‍जे के लिए पूरी ताकत लगा रहा है। लगातार चार दिनों से जारी इस जंग में कई आम नागरिकों की भी मौत हो चुकी है। अफगानिस्‍तान के खराब हालातों पर और विशेषकर आम नागरिकों को राहत एजेंसियों पर हुए हमले को लेकर संयुक्‍त काफी चिंतित है। अफगानिस्‍तान स्थित यूएन मिशन फिलहाल इस हमले के बारे में सुबूत और विवरण जमा कर रहा है। इसको लेकर वो संबंधित पक्षों के भी संपर्क में है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Recommended News