पाकिस्तान में कोरोना नियमों की जमकर उड़ी धज्जियां, धार्मिक जलूस में उमड़ा जनसैलाब

2021-05-05T11:56:37.557

पेशावरः पाकिस्तान इस समय कोरोना वायरस की तीसरी लहर से जूझ रहा है।  यहां 8 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं और 18 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। वैक्सीन भी बहुत ही कम लोगों को लगी है।  हालत यह है कि वैक्सीन के लिए भी पाक प्रधानमंत्री इमरान खान को दूसरे देशों के आगे हाथ फैलाना पड़ रहा है । मगर इस बीच पाकिस्तान में फिर से कोरोना विस्फोट की स्थिति बन चुकी है। लाहौर के पूर्वी शहर में उमड़ी शिया मुस्लिमों की भीड़ की वजह से पाकिस्तान में  फिर से कोरोना बम फूट सकता है।

PunjabKesari

लाहौर में  कोरोना नियमों की अवहेलना करते  हजारों की संख्या में लोगों ने एक धार्मिक जुलूस निकाला जिसमें  सोशल डिस्टेंसिंग  की जमकर धज्जियांउड़ाई गईं। लोगों ने मास्क तक नहीं लगा रखे थे। भीड़ का आलम यह था कि वहां तिल रखने तक की जगह नहीं थी।  पाकिस्तान सरकार हालिया समय में कई मौकों पर धार्मिक समुदायों के आगे झुकती दिखी है।  रमजान के समय मस्जिदें खोली गई हैं और रात में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए बिना लोग जमा हो रहे हैं।

PunjabKesari

पाक सरकार ने नोटिस जारी कर पैगंबर मुहम्मद के साथी और दामाद इमाम अली के दुनिया से जाने का शोक मनाने के लिए धार्मिक जुलूस निकालने पर पाबंदी लगाई थी मगर स्थानीय निवासियों ने धार्मिक नेताओं ने इस आदेश की धज्जियां उड़ा दी। हाल ही में भारत के हरिद्वार में   कुंभ की भीड़ पर चिंता जताने वाले प्रधानमंत्री इमरान अपने देश में सख्ती बरतने में असफल साबित हुए हैं। इमरान ने कहा था कि भारत में  कोरोना  फैलने की एक बड़ी वजह कुंभ बना। बता दें कि पाकिस्तान की 22 करोड़ आबादी में करीब 20 फीसदी शिया मुस्लिम हैं। लाहौर के अलावा अन्य शहरों में भी धार्मिक जुलूस निकाले गए।  
 PunjabKesari
 


Content Writer

Tanuja

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static