See More

दुनिया के लिए नई मुसीबतः अब इबोला वायरस ने दी दस्तक, कांगो में 4 की मौत

2020-06-02T11:02:30.143

इंटरनेशनल डेस्कः कोरोना वायरस से जूझ रही दुनिया के लिए अब नई मुसीबत इबोला वायरस ने दस्तक दे दी है। डेमोक्रैटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो में इबोला वायरस तेजी से फैल रहा। इबोला से यहां 5 लोगों की मौत हो गई है। कांगो के पूर्वी इलाके में पहले से ही इबोला फैला हुआ था, अब यह पश्चिमी शहर मबान्‍डाका में भी वायरस पहुंच गया है। दोनों शहरों के बीच करीब 620 मील की दूरी है। कांगो के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री इतेनी लोंगोंडो ने बताया कि पश्चिमी कांगो में इबोला का प्रकोप शुरू हुआ है। उन्‍होंने कहा, 'इबोला से 4 लोगों की मौत हो गई है और 4 संदिग्‍ध मामले सामने आए हैं।' उन्‍होंने बताया कि चारों लोगों की जांच में इबोला का वायरस पाया गया है।

 

लोंगोंडो ने कहा, 'मबान्‍डाका में इबोला के नए मामले सामने आए हैं। हम बहुत जल्‍द ही वहां पर वैक्‍सीन और दवाएं भेजने जा रहे हैं।' इबोला के मामले सामने आने पर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के चीफ डॉक्‍टर टेड्रोस ने कहा, 'इबोला का प्रकोप यह हमें याद दिलाता है कि कोरोना वायरस ही एकमात्र खतरा नहीं है जिसका दुनिया सामना कर रही है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की टीम वहां पर है और मदद कर रही है। WHO लगातार इन चीजों पर नजर बनाए हुए है और स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर उठे आपातकालीन मामलों की निगरानी कर रहा है।' कांगों के एक्वाटेयर प्रांत में वर्ष 2018 में भी इबोला का प्रकोप फैला था और 54 मामले सामने आए थे। इसमें 33 लोगों की मौत हो गई थी।

 

कांगो अपने पूर्वी इलाके में फैले इबोला वायरस के दूसरे सबसे बड़े प्रकोप से जूझ रहा है। कांगो में दो नई वैक्‍सीन के इस्‍तेमाल के बाद भी अब तक 2260 लोगों की इबोला वायरस से मौत हो गई है। कांगो कोरोना और इबोला वायरस की दोहरी मार से जूझ रहा है। कांगो में कोरोना वायरस के 3195 मामले सामने आए हैं और 72 लोगों की इस महामारी से मौत हो गई है। हालांकि राहत की बात यह है कि एक्वाटेयर प्रांत में अभी कोरोना वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आया है। कांगो में इबोला के खात्‍मे के लिए दो वैक्‍सीन का इस्‍तेमाल किया जा रहा है लेकिन विद्रोहियों के इलाके में हेल्‍थ वर्कर्स पर हमले और गृह युद्ध की वजह से इस वायरस का खात्‍मा नहीं हो पा रहा है।


Tanuja

Related News