अमेरिका: पत्रकार की जान लेने वाली गोली के इजराइल की ओर से चलाए जाने की संभावना

punjabkesari.in Tuesday, Jul 05, 2022 - 10:24 AM (IST)

वाशिंगटन, चार जुलाई (एपी) अमेरिकी अधिकारियों ने यह निष्कर्ष निकाला है कि अल-जजीरा की पत्रकार शिरीन अबू अक्लेह की मौत संभवत: इजराइल की ओर से चलाई गई गोली से हुई।
अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि यह विश्वास करने का कोई आधार नहीं है कि उसे जानबूझकर गोली मारी गई।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने अपने बयान में कहा कि यह निष्कर्ष जांच के बाद आया है। अबू अक्लेह के शरीर से बरामद गोली के टुकड़े की स्वतंत्र बैलिस्टिक विशेषज्ञों द्वारा जांच की गई थी, जिसे अमेरिका ने ‘अनिर्णायक परीक्षण’ कहा था।

प्राइस ने बयान में कहा, ‘‘बैलिस्टिक विशेषज्ञों ने निर्धारित किया कि गोली बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई थी, जिससे यह स्पष्ट निष्कर्ष नहीं निकला कि किसने गोली चलाई।’’
एक अनुभवी संवाददाता और अमेरिकी-फलस्तीनी नागरिक अबू अक्लेह पूरी अरब दुनिया में जानी जाती थीं। 11 मई को कब्जे वाले वेस्ट बैंक में जेनिन शरणार्थी शिविर में एक इजराइली सैन्य छापेमारी को कवर करते समय अक्लेह को गोली मार दी गई जिससे उनकी मौत हो गई।
अक्लेह के चालक सहित चश्मदीदों का कहना है कि इजरायली सैनिकों ने उन्हें मार डाला और उस समय आसपास के क्षेत्र में कोई आतंकवादी नहीं था।

लेकिन इजराइल का कहना है कि वह फलस्तीनी आतंकवादियों के साथ एक जटिल लड़ाई के दौरान मारी गईं। इजराइल ने कहा कि केवल एक फोरेंसिक विश्लेषण से इस बात की पुष्टि हो सकती है कि गोली इजरायली सैनिक ने चलाई थी या फलस्तीनी आतंकवादी ने।
इजराइल ने दृढ़ता के साथ इस बात से इनकार किया है कि अक्लेह को जानबूझकर निशाना बनाया गया था, लेकिन यह भी कहा कि आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान हो सकता है कि इजराइली सैनिक की गोली उसे गलती से लग गई हो।


एपी संतोष नरेश नरेश 0407 2106 वाशिंगटन

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News